Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अर्थव्यवस्था की चुनौतियों से निपटने के लिए आरबीआई और सरकार के बीच हो निरंतर वार्ताः उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक और भारत सरकार के बीच नियमित निरंतर बातचीत होनी चाहिए। यह कोई सवाल नहीं है कि कौन ताकतवर है या अंतिम है। अंतिम लोग और उनके हित हैं। इन सभी प्रणालियों को लोगों के कल्याण की सुविधा के लिए बनाया गया है।

अर्थव्यवस्था की चुनौतियों से निपटने के लिए आरबीआई और सरकार के बीच हो निरंतर वार्ताः उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक और भारत सरकार के बीच नियमित निरंतर बातचीत होनी चाहिए। यह कोई सवाल नहीं है कि कौन ताकतवर है या अंतिम है। अंतिम लोग और उनके हित हैं। इन सभी प्रणालियों को लोगों के कल्याण की सुविधा के लिए बनाया गया है।

उन्होने आगे कहा कि इसलिए उन्हें मीडिया के माध्यम से चर्चाओं के बजाए अपने बोर्डरूम में बातचीत करनी चाहिए और फिर वास्तविक समस्याओं को हल करने के कुछ समाधानों को संबोधित करना चाहिए।
नायडू ने कहा कि इस समस्या का कारण कुछ ऐसे लोग हैं, जिन्होंने व्यवस्था के साथ गड़बड़ी की और उससे पूरा उद्योग प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा कि बैंकों ने सभी को कर्ज दिया लेकिन आरबीआई ने उस समय कुछ नहीं किया। अब उन्होंने हर चीज कड़ी कर दी है जो कि समस्या का कारण है। राजनेताओं और उद्योगपतियों को इन समस्याओं का विश्लेषण करना होगा और समझना होगा।
उपराष्ट्रपति, भारतीय कपड़ा उद्योग परिसंघ (सीआईटीआई) के हीरक जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे।
सीआईटीआई के हीरक जयंती समारोह को संबोधित करते हुए नायडू ने जीडीपी में तीन फीसदी योगदान देने वाले कपड़ा उद्योग से चौथी औद्योगिक क्रांति की मांग के तहत नई प्रौद्योगिकी अपनाने को कहा।
Share it
Top