Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रविशंकर प्रसाद ने मनमोहन सिंह पर साधा निशाना, कहा- पूर्व पीएम ने बैंकिंग प्रणाली को किया ध्वस्त

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बैंक स्कैम को लेकर कहा कि UPA सरकार के दौरान बैंकों के रिकॉर्ड में सही चीज़ें नहीं आने दी गईं। मोदी सरकार के दौरान एक भी एनपीए नहीं हुआ है।

रविशंकर प्रसाद ने मनमोहन सिंह पर साधा निशाना, कहा- पूर्व पीएम ने बैंकिंग प्रणाली को किया ध्वस्त
X

भाजपा की पूर्वोत्तर में ऐतिहासिक जीत के बाद से ही राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। भाजपा के केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि त्रिपुरा की जीत देश के लिए एक बहुत दूरगामी जीत है।

रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पिछले चार सालों से भय और भ्रम की राजनीति कर रही है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समय में गलत हस्तक्षेप के कारण पूरी बैंकिंग प्रणाली बिगड़ चुकी थी।

कांग्रेस पर साधा निशाना

यूपीए सरकार के दौरान 82 फीसदी संपप्ति बढ़ चुकी है। इसका मतलब है कि एक से अधिक अवसरों के लिए सही डेटा यूपीए सरकार के दौरान नहीं मिला। जो बैंकों के रिकॉर्ड से नहीं मिलता है।

राफेल सौदा इन दिनों काफी चर्चा में है। यह बहुत आश्चर्य की बात है कि बोफोर्स और अन्य हथियारों की खरीद के बीच भ्रष्टाचार में डूबी कांग्रेस पार्टी राफेल सौदे पर सवाल उठा रही है। इन्होंने 10 साल तक राफेल सौदे को मंजूरी नहीं दी।

हमने कहा है कि हमारे सरकार के तहत दिए गए एक भी ऋण एनपीए नहीं है। 2008 में, बैंकों द्वारा दिए गए लोगों को कुल अग्रिम 18.06 लाख करोड़ रुपये थी। मार्च 14 तक कुल राशि 52.15 लाख करोड़ रूपए हो गई थी। इस बात से पता चला है कि संपत्ति केवल 36% है।

कांग्रेस यूपी, हरियाणा, झारखंड, कश्मीर में हारी है। हम उम्मीद करते थे कि पूर्वोत्तर में कांग्रेस की पकड़ है। पार कांग्रेस त्रिपुरा और नागालैंड में 0 है। नागालैंड में भाजपा ने 20 उम्मीदवार उतारे थे और उनमें से 12 जीते। हमे 15% वोट मिले, वो भी एेसे देश में जहां 88% ईसाई हैं।

ये भी पढ़े: बजट सत्र: राज्यसभा में पीएनबी स्कैम को लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस ने कसा तंज, कहा- सफेद धन भी देश से बाहर गया

अगस्त 2013 में यूपीए ने 80 20 की योजना की शुरूआत की और बाद में 2014 नवंबर में इसे निरसन कर दिया गया। 16 मई 2014 के परिणाम के दिन उस समय के तत्कालीन वित्त मंत्री ने 80:20 योजना के तहत सात प्राइवेट कंपनियों को 'आशिरवाद' दिया। उनमें से एक कंपनी गीतांजलि भी थी।

चिदंबरम और राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए कि ये 7 प्राइवेट कंपनियों के लाभ पहुंचाने के लिए परिणाम के दिन क्यों चुना गया? चिदंबरम स्वम नहीं कर रहे थे सीधा आशिरवाद था।

बता दें कि भाजपा ने पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों में जीत हासिल की है। त्रिपुरा में भाजपा ने 25 साल पुरानी सीपीएम की सरकार को उखाड़ फेका। भले ही माणिक सरकार को गरीबों का सीएम कहा जाता हो, मगर वह निचले स्तर पर करप्शन रोकने सफल नहीं हुए।

ये भी पढ़े: भाजपा की दमदार जीत के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बोले, 'हम पूर्वोत्तर के लोगों का सम्मान करते हैं'

यही नाराजगी भाजपा के लिए लाभदायक साबित हुई। आईपीएफटी के साथ मिलकर बीजेपी ने जीत का रास्ता साफ किया और बीजेपी को त्रिपुरा में आदिवासियों तक पहुंचने में कामयाब हुई, जिनकी आबादी 31 फीसद है।

बीजेपी ने पूर्वोत्तर में हिन्दुत्व का कार्ड भी चलाया। इसके साथ ही भाजपा ने योगी आदित्यनाथ को प्रचार करने भेजा। यहां भी योगी का जादू चल, जिसके चलते योगी ने 9 सीटों के लिए प्रचार किया था जिसमें से ज्यादातर सीटों पर भाजपा ने कब्जा किया।

पू्र्वोत्तर में लोगों के भोजन में बीफ शामिल है, मगर भाजपा ने कभी इसको चुनावी मुद्दा नहीं बनाया। भाजपा वहां के लोगों को यह बताने में सफल रही कि वह उनकी परपंराओं का सम्मान करती है। इसी वजह से भाजपा को वोट भी मिले।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story