Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू कश्मीर में कांग्रेस का आजादी राग, रविशंकर बोले- हमारे जवान शहीद हो रहे हैं और इन्हें कश्मीर को भारत से अलग करना है

जम्मू कश्मीर में आजादी का राग अलापने वाली कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद के बयान पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इनके बयान से भारत नहीं पाकिस्तान खुश होगा।

जम्मू कश्मीर में कांग्रेस का आजादी राग, रविशंकर बोले- हमारे जवान शहीद हो रहे हैं और इन्हें कश्मीर को भारत से अलग करना है
X

जम्मू कश्मीर में आजादी का राग अलापने वाली कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद के बयान पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इनके बयान से भारत नहीं पाकिस्तान खुश होगा। एक तरफ हमारे जवान शहीद हो रहे हैं और दूसरी तरफ भारत के अभिन्न हिस्से को अलग करने के लिए कांग्रेस नेता शर्मनाक बयान दे रहे हैं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सेना कश्मीर में आतंकवादियों से ज्यादा आम जनता को मार रही है। उनकी यह टिप्पणी बहुत ही शर्मनाक, दुर्भाग्यपूर्ण और गैर जिम्मेदाराना है।

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि आज गुलाम नबी आजाद की टिप्पणी से सबसे ज्यादा खुश वो लोग होंगे जो आंतकवाद का समर्थन कर रहें है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज जो भाषा कांग्रेस पार्टी के नेता बोल रहें है उसका समर्थन लश्कर-ए-तैयबा कर रही है। किस राजनीतिक लाभ के लिए आज कांग्रेस पार्टी देश को तोड़ने वालों के साथ खड़ी हो गई है?

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी राहुल गाँधी जी की अगुवाई में और सोनिया गाँधी जी के आश्रय में देश को तोड़ने वाली ताकतों को मजबूत कर रही है।

बता दें कि कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा था कि जम्मू कश्मीर में केंद्र सरकार चार आतंकियों को मारने के चक्कर में 20 आम लोगों को मार रही है।

गुलाम नबी आजाद के इस बयान का पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा समर्थन किया है। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज ने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर के लोग आजादी चाहते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story