Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरलः ''रैट फीवर'' का कहर, 30 से अधिक मरे, जानें इस घातक बीमारी की खास बातें

केरल बाढ़ की चपेट से निकलने के बाद महामारी की गिरफ्त में है। अब लेप्टोस्पायरोसिस (रैट फीवर) नामक घातक बीमारी की चपेट में है। इस बीमारी के कारण अबतक बीस से अधिक लोगों के मरने की बात सामने आई है तो वहीं सैकड़ो अस्पताल में भर्ती में है।

केरलः रैट फीवर का कहर, 30 से अधिक मरे, जानें इस घातक बीमारी की खास बातें
X

केरल बाढ़ की चपेट से निकलने के बाद महामारी की गिरफ्त में है। अब लेप्टोस्पायरोसिस (रैट फीवर) नामक घातक बीमारी की चपेट में है। इस बीमारी के कारण अबतक बीस से अधिक लोगों के मरने की बात सामने आई है तो वहीं सैकड़ो अस्पताल में भर्ती में है।

इस लेप्टोस्पायरोसिस (रैट फीवर) नामक घातक बीमारी के कारण सरकार ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है। सरकार ने लोगों को बचने और हर पल की खबर देने को कहा है। इसके लिए स्वास्थ्य सेवाओं को दुरूस्त किया जा रहा है।

क्या है 'रैट फीवर'

'रैट फीवर' बेक्टीरिया से फैलने वाली संक्रामक बीमारी है जो खासकर गंदी मिट्टी और और गंदे पानी में फैलते हैं। रैट फीवर का बैक्टीरिया का वाहक कोई जानवर या गंदा पानी होता है जिससे कि ये मनुष्यों में तेजी से फैलते हैं।

अगर खबरों की मानें तो केरल में इस बीमारी के कारण 559 केस और 34 संभावित मौतों की बात कही जा रही है। लेकिन सरकारी आंकड़ों की मानें तो केरल के स्वास्थ्य विभाग ने अगस्त महीने में केवल 229 केस और 6 संभावित मौतों के आंकड़े की पुष्टि की है।

इसे भी पढ़ें- घरों और राहत शिविर में सांपों ने डाला डेरा, सरकार ने जारी किया अलर्ट

'रैट फीवर' के लक्षण

'रैट फीवर' के कारण बुखार, बहुत अधिक थकान महसूस होना, मांसपेशियों में जोरों का दर्द, असहनीय सिरदर्द और जोड़ों में दर्द ये इस बीमारी के लक्षण हैं जो कि इसका संकेत देते हैं। इसके जीवाणु पीड़ित व्यक्ति के लिवर और किडनी पर अटैक करते हैं।

इससे बचने के उपाय

  • अब यदि आप बाढ़ की चपेट में हैं तो ऐसे में आपको ये बात ध्यान से पढ़नी चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (who) के अनुसार ये संक्रामक बीमारी की तरह है यानी कि इसके जीवाणु तेजी से फैलेत हैं।
  • चूंकी हम जानते हैं कि संक्रमण से बचने का बेहतर उपाय है कि हम परहेज रखें। मतलब कि पानी को उबाल कर पीएं, बीमार व्यक्ति से मिलने के बाद हाथ अच्छे से धोएं।
  • पब्लिक स्थानों पर शौच आदि ना करें। साथ ही जानवरों से दूरी बनाकर रखें। इसके अलावा खान पान का विशेष ध्यान दें। साथ ही उपरोक्त लक्षण दिखने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story