Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मेरठ में RSS का सबसे बड़ा ''शक्ति प्रदर्शन'', जानिए पूरा मामला

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा स्वयं सेवक समागम रविवार सुबह से मेरठ में शुरू हो गया है।

मेरठ में RSS का सबसे बड़ा शक्ति प्रदर्शन, जानिए पूरा मामला
X

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा स्वयं सेवक समागम की मेरठ में तैयारियां जोरो शोरों से चल रही हैं। इस समागम का मकसद 2019 के चुनाव की तैयारियों को लेकर देखा जा रहा है।

बीजेपी को 2014 में सर्वाधिक 73 लोकसभा सीटें उत्तर प्रदेश से ही मिली थीं। इसमें भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बीजेपी को सबसे अधिक सीटें हासिल हुई थीं।

भव्य तरीके से महासमागम की तैयारीयां

बता दें कि इस महासमागम की तैयारी भव्य तरीके से की जा रही है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने यहां पर कार्यक्रम के लिए 6 माह पहले से तैयारियां शुरू कर दी थी। करीब 650 एकड़ में फैले विशाल परिसर में कार्यक्रम को लेकर दिन-रात काम किया गया। वहीं संघ कार्यकर्ताओं को समागम में एंट्री के लिए एक बार कोड दिया जाएगा।

RSS का सबसे बड़ा 'शक्ति प्रदर्शन'

यह मंच 200 फुट लंबा, 100 फुट चौड़े एवं 60 फुट ऊंचे मंच की तैयारी के लिए दिल्ली की टीम जुटी हुई थी। मंच के पीछे 92 फीट का और सूर्योदय की आकृति का है। ये मंच काफी भव्य है इस विशाल आयोजन में अब तक 3 लाख 13 हजार, 393 लोगों ने पंजीकरण कराया गया है।
वही इस आयोजन में 94 हजार स्वंयसेवक कई महानगरों से हिस्सा लेंगे। 25 फरवरी को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यहां अपनी स्थापना के बाद का सबसे बड़ा 'शक्ति प्रदर्शन' होगा।

हिन्दुत्व के ठप्पे को मिटाने की कोशिश

इस आयोजन की सबसे अहम बात ये है कि संघ पर लगे हिन्दुत्व के ठप्पे को मिटाने की कोशिश की है। गौरतलब है कि करीब 3 लाख से अधिक स्वंयसेवकों का जातीय दीवारें तोड़ते हुए सबको एक साथ लाते हुए रोटी से नाता जोड़ना है।
आयोजन के लिए हर घर से रोटी जुटाने की पहल भी सहारनपुर से लेकर दूसरे जिलों तक दलितों एवं सर्वणों के बीच हुए जातीय संघर्ष पर मरहम लगाने की ही कड़ी मानी जा रही है।

सुरक्षा के लिए कड़े इन्तेज़ाम

मेरठ में इस आयोजन की सुरक्षा को देखते हुए एसएसपी मंजिल सैनी ने कहा है कि 'सुरक्षा के लिहाज से भारी मात्रा में फोर्स लगाई गई है।जिसमें जिले के साथ साथ, जोन स्तर और पुलिस मुख्यालय फोर्स भी है एसपी के साथ डिप्टी एसपी, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, एलआईयू, ट्रैफिक, एटीएस के कमांडो भी तैनात रहेंगे।
वहीं 15 कंपनी पीएसी, 3 कंपनी RAF को भी तैनात किए गए हैं। जिले में भारी वाहनों का प्रवेश भी बंद कर दिया गया है। सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं और जांच के लिए ड्रोन कैमरों की भी मदद ली जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story