Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रतिवर्ष 500 आतंकियों का सफाया करती है राष्ट्रीय रायफल्स

12 सेक्टरों में बंटी हुई राष्ट्रीय रायफल्स विश्व की सबसे बड़ी आतंकवाद विरोधी फोर्स है।

प्रतिवर्ष 500 आतंकियों का सफाया करती है राष्ट्रीय रायफल्स
नई दिल्ली. हमला चाहे पश्चिम से हो अथवा पूरब से भारतीय वायु सेना उसका सामना करने और दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार और सक्षम है। भारतीय वायुसेना के अध्यक्ष अरूप राहा ने आज, मंगलवार को यहां कहा कि भारतीय वायुसेना के पास युद्ध अथवा हमले की किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं।
यह सच है कि 12 सेक्टरों में बंटी हुई राष्ट्रीय रायफल्स विश्व की सबसे बड़ी आतंकवाद विरोधी फोर्स है जिसके पास वर्तमान में एक लाख से अधिक जवान और अधिकारी हैं। यह फोर्स सिर्फ जम्मू-कश्मीर में ही तैनात है और इसके गठन की जरूरत उसी समय महसूस हुई थी जब राज्य में पाकिस्तान समर्थक आतंकवाद ने पांव पसारे थे।
पिछले 26 सालों के दौरान इस फोर्स द्वारा प्राप्त की गई सफलताओं को गिनाते हुए अधिकारी बताते हैं कि जहां उसने आतंकवाद का खात्मा करने में अहम भूमिका निभाई है वहीं वह अब आप्रेशन सद्भावना के तहत लोगों का दिल जीतने के साथ ही उनकी भलाई के कार्य में लिप्त है।
राष्ट्रीय रायफल्स के अधिकारी बताते हैं कि अपने गठन से लेकर अभी तक की 26 सालों की अवधि के दौरान राष्ट्रीय रायफल्स ने राज्यभर में 12000 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया है। राज्य में सक्रिय सभी सुरक्षाबलों द्वारा मार गिराए गए आतंकवादियों की संख्या का यह आधा है। इस हिसाब से यह सेना प्रतिवर्ष औसतन 500 सैनिकों को सफाया कर रही है।
हालांकि इसी अवधि में राष्ट्रीय रायफल्स ने 6797 आतंकवादियों को हिरासत में भी लिया जबकि राज्य में होने वाले आतंकवादियों के आत्मसमर्पण में भी राष्ट्रीय रायफल्स फोर्स ने जो अहम भूमिका निभाई उसके चलते वह 1109 आतंकवादियों से हथियार डलवाने में कामयाब जरूर हुई है।
आतंकवाद के खिलाफ अहम भूमिका
जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जंग में राष्ट्रीय राइफल्स सबसे अहम भूमिका निभाती है। इसे भले ही अर्धसैनिक बल समझा जाता हो, लेकिन राष्ट्रीय राइफल्स, सेना का ही हिस्सा है और इसमें सेना के चुनिंदा जवान होते हैं, जो ऊंचाई वाले इलाकों में हर परिस्थिति में दुश्मन को ढेर करने में माहिर होते हैं। इन्हें बहुत कड़ी ट्रेनिंग दी जाती है। इसे दुनिया में आतंकवाद से लडऩे के लिए खासतौर पर गठित सबसे बड़ा बल माना जाता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top