Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एनसीआर शहरों से जोड़ने वाली दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर को हरी झंडी

दिल्ली को एनसीआर शहरों से जोड़ने के लिए रैपिड रेल कॉरिडोर प्रॉजेक्ट के लिए दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर को हरी झंडी मिल गई है।

एनसीआर शहरों से जोड़ने वाली दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर को हरी झंडी
X
नई दिल्ली. दिल्ली को एनसीआर शहरों से जोड़ने के लिए रैपिड रेल कॉरिडोर प्रॉजेक्ट के लिए दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर को हरी झंडी मिल गई है। प्रॉजेक्ट के लिए बने एनसीआर ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) के बोर्ड ने मंगलवार को इसे मंजूरी दी है। इससे पहले एनसीआर प्लानिंग बोर्ड ने भी इस पर मुहर लगा दी है। करीब 22 हजार करोड़ रुपए के इस प्रॉजेक्ट के तहत दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ तक अंडरग्राउंड और ऐलिवेटेड कॉरिडोर बनेगा।
एनबीटी की खबर के मुताबिक, इस कॉरिडोर पर 160 किमी की स्पीड पर ट्रेन चलाने का प्रस्ताव है, जिससे दिल्ली और मेरठ के सफर में काफी कम वक्त लगेगा। उम्मीद की जा रही है कि यह प्रॉजेक्ट 2024 तक तैयार हो जाएगा और उस वक्त रोजाना इस ट्रेन में 7.91 लाख पैसेंजर सफर करेंगे और 2031 तक यह संख्या 9.20 लाख तक पहुंच जाएगी।
कई अड़चनें अभी बाकी
बोर्ड की मंजूरी के बावजूद अभी इस प्रॉजेक्ट की सारी अड़चनें दूर नहीं हुई हैं। बोर्ड के बाद इस प्रॉजेक्ट के लिए पहले यूपी और दिल्ली सरकार की मंजूरी लेनी होगी। यही नहीं, इस प्रॉजेक्ट पर अमल के लिए एक और कंपनी बनानी होगी। यही नहीं, रेलवे से भी इसकी मंजूरी की जरूरत होगी, क्योंकि एनसीआरटीसी में रेलवे की 22.5 फीसदी की हिस्सेदारी है।
11 ऐलिवेटिड और छह अंडरग्राउंड स्टेशन
बोर्ड में पारित किए गए प्रस्ताव के मुताबिक इस कॉरिडोर के तहत सराय काले खां से गाजियाबाद और मेरठ तक का कॉरिडोर 92.05 किमी का होगा। इसमें से 60.354 किमी ऐलिवेटिड होगा और 30.24 किमी का हिस्सा अंडरग्राउंड रहेगा। इसके अलावा 1.451 किमी का हिस्सा जमीन पर ही होगा। इसके तहत कुल 17 स्टेशन बनेंगे, जिनमें से 11 ऐलिवेटिड और छह अंडरग्राउंड स्टेशन बनाए जाएंगे।
स्पीड 160 किमी प्रति घंटे
इसके लिए दुहाई और मोदीपुरम में डिपो बनाए जाएंगे। इस कॉरिडोर में यमुना नदी के नीचे अंडरग्राउंड टनल बनेगी। बोर्ड सूत्रों का कहना है कि इस कॉरिडोर पर जो ट्रेनें चलेंगी, वे 180 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकती हैं लेकिन इस कॉरिडोर के लिए उनकी स्पीड 160 किमी प्रति घंटे की होगी। इस ट्रेन के कोच में बसों की तरह ही 2 गुणा दो सीटें लगेंगी। हर ट्रेन में 12 कोच लगाने का प्रस्ताव है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story