Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कब आएंगे अच्‍छे दिन? देश में हर दस में से तीसरा आदमी गरीब, रंगराजन समिति ने सौंपी रिपोर्ट

गरीबी का यह आंकड़ा सुरेश तेंदुलकर समिति द्वारा पेश किए गए आंकड़े से ज्यादा है।

कब आएंगे अच्‍छे दिन? देश में हर दस में से तीसरा आदमी गरीब, रंगराजन समिति ने सौंपी रिपोर्ट
नई दिल्‍ली. देश में जहां अच्‍छे दिन आने वाले हों लेकिन वा‍स्‍तविकता यह भी है कि आज देश का हर तीसरा आदमी गरीब है। रंगराजन समिति ने तेंदुलकर समिति की रिपोर्ट को झुठलाया। योजना आयोग में राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह को सौंपी रंगराजन समिति की रिपोर्ट ने माना है कि देश में हर 10 में से 3 व्यक्ति गरीब है।
इसी के साथ रंगराजन समिति ने गांव में 32 रुपये तथा शहरों में 47 रुपये प्रतिदिन कमाने वाले को गरीब नहीं माना है। इस तरह से रंगराजन समिति ने तेंदुलकर समिति के द्वारा तय किया गया गरीबी की रेखा का पैमाना ही बदल दिया है। रंगराजन समिति ने 2011-12 के लिये गांवों में 972 रुपये तथा शहरों में 1407 रुपये प्रतिमाह खर्च करने की सामर्थ्य रखने वाले को गरीब नहीं माना है जबकि तेंदुलकर समिति ने इसे गांवों के लिये 816 तथा शहरों के लिये 1000 रुपये माना था।
रंगराजन समिति द्वारा गरीबी की रेखा को, तेंदुलकर समिति द्वारा तय किये गये गरीबी की रेखा से ऊपर कर देने से देश में गरीबो की संख्या बढ़ गई है। रंगराजन समिति के अनुमानों के अनुसार, 2009-10 में 38.2 प्रतिशत आबादी गरीब थी जो 2011-12 में घटकर 29.5 प्रतिशत पर आ गई। इसके विपरीत तेंदुलकर समिति ने कहा था कि 2009-10 में गरीबों की आबादी 29.8 प्रतिशत थी जो 2011-12 में घटकर 21.9 प्रतिशत रह गई।
नीचे की स्‍लाइड्स में जानिए, क्‍या है रंगराजन समिति की रिपोर्ट-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

Next Story
Top