Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भ्रामक विज्ञापनों पर जुर्माना और सजा का प्रावधान: पासवान

पासवान ने देश में चीन के सस्ते उत्पादों की भरमार पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसपर रोक लगाए जाने के लिए कदम उठाए जाएंगे।

भ्रामक विज्ञापनों पर जुर्माना और सजा का प्रावधान: पासवान

पटना. केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने मंगलवार को कहा कि बिना गुणवत्ता जांच किए उत्पादों का प्रचार करने वाले जिनमें सिलिब्रेटी भी शामिल हैं, के लिए मौजूदा उपभोक्ता संरक्षण कानून के स्थान पर प्रस्तावित नए कानून में 50 लाख रुपए का जुर्माना और पांच साल के कारावास की सजा का प्रावधान किया जा रहा है।

पटना में पासवान ने कहा कि संसद की स्थाई समिति ने उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 2016 को मंजूरी दे दी है और इसे संसद के अगले सत्र में पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वर्ष 1986 के उपभोक्ता संरक्षण कानून जिसका स्थान अब नया उपभोक्ता संरक्षण काननू लेगा में ऐसे उत्पाद जिनकी गुणवत्ता जांच किए बिना अभिनेताओं सहित सेलिब्रिटीज प्रचार करते हैं के विरूद्ध कड़े प्रावधान किए गए हैं।
आम्रपाली के खिलाफ उठा था मामला उल्लेखनीय है कि हाल में ऐसे भ्रामक प्रचारों के खिलाफ आवाज उस समय उठनी शुरू हुई जब रीयल एस्टेट कंपनी आम्रपाली के प्रचार से क्रिकेटर एमएस धोनी ने अपने को अलग कर लिया था। कंपनी के ग्राहकों ने शिकायत की थी कि पूर्व में फ्लैट बुक किए जाने के बाद भी उन्हें उनका आवंटन नहीं किया गया है।
बीआईएस को सशक्त बनाया जाएगा
पासवान ने देश में चीन के सस्ते उत्पादों की भरमार पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसपर रोक लगाए जाने के लिए कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने सोने की बिक्री में बढती गड़बड़ी का उदाहरण देते हुए कहा कि बीआईएस को सशक्त बनाया जाएगा और दुकानों के लिए यह अनिवार्य कर दिया जाएगा कि वे ऐसा ग्लास रखें जिससे कि 9 कैरट का सोना 24 कैरेट बताकर नहीं बेचा जा सके।
धोखे वाले विज्ञापनों पर जुर्माना
पासवान ने कहा कि नए उपभोक्ता संरक्षण कानून में ऐसे धोखे वाले विज्ञापन पर वर्तमान दस लाख रुपए का जुर्माना और दो साल के कारावास की सजा के प्रावधान को बढ़ाकर पचास लाख रुपए का जुर्माना और पांच साल का कारावास किया जाएगा।
Next Story
Top