Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राम रहीम से आसाराम तक, ये हैं कुछ बाबा जो बदनाम हुए हैं

बाबा राम रहीम पर बलात्कार के आरोप को कोर्ट ने दोषी माना।

राम रहीम से आसाराम तक, ये हैं कुछ बाबा जो बदनाम हुए हैं

विवादों से घिरे धर्म गुरुओं की जिंदगी काफी शानदार रही है। चाहे राधे मां हों या बाबा राम रहीम हों इनके भक्त लाखों में हैं। इन धर्म गुरुओं की आलीशान जिंदगी किसी के लिए भी हसरत बन सकती है। इन बदनाम बाबाओ के ऊपर लगे आरोप भी काफी बड़े और संगीन हैं। किसी पर मर्डर का तो किसी पर रेप का आरोप लग चुका है।

बाबा राम रहीम पर बलात्कार के आरोप

संत गुरमीत राम रहीम सिंह-'डेरा सच्चा सौदा' के संस्थापक संत गुरमीत राम रहीम सिंह के कारनामों पर अगर नजर डालें तो वह न केवल गैरकानूनी कामों संलिप्त रहे हैं बल्कि उनपर बलात्कार जैसे आरोप भी लगे हैं।

हरियाणा के डेरा सिरसा मुखी बाबा गुरमीत सिंह राम रहीम के खिलाफ उन्हीं के आश्रम की महिला अनुयायियों ने बलात्कार का आरोप लगाया था। इस ममाले में उन्हें सीबीआई अदालत ने दोषी ठहराया है।

इसे भी पढ़े:- हिंसा को देखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

धीरेंद्र ब्रह्मचारी: योग गुरु जो चलते थे प्राइवेट जेट से

70-80 के दशक में धीरेंद्र ब्रह्मचारी न सिर्फ प्रसिद्ध योग गुरु थे बल्कि हथियारों के बड़े डीलर भी थे। उस समय के राजनीतिक गलियारों में भी उनकी धमक थी। उनकी आलीशान जिंदगी किसी सिलेब्रिटी को मात देने के लिए काफी थी। 90 के दौर में धीरेंद्र ब्रह्मचारी के ऊपर अपनी गन फैक्‍ट्री में अवैध विदेशी हथियार रखने के आरोप लगे।

राधे मां

राधे मां-राधे मां का असली नाम सुखविंदर है। एक समय घर खर्च में पति का हाथ बंटाने के लिए सिलाई का काम करने वाली सुखविंदर का पति जब पैसे कमाने के लिए गल्फ चला गया तो सुखविंदर ने स्थानीय परमहंस डेरे में जाना शुरू कर दिया।

जल्द ही वह डेरा प्रमुख के साथ सत्संग में जाने लगी। धीरे-धीरे वह खुद भी सत्संगों का आयोजन करने लगी। मुंबई में राधे मां की काफी पकड़ मानी जाती है। देश के कई जाने माने सिलेब्रिटी भी राधे मां के भक्त हैं।

विवाद- सोशल मीडिया पर राधे मां की मिनी स्कर्ट पहनने वाली तस्वीरें वायरल हो चुकी हैं। भक्तों के गले लगना, उनके साथ डांस करना, ये सब राधे मां के खास अंदाज हैं। यही वजह है कि उनपर अश्लीलता फैलाने का भी आरोप लग चुका है। 2003-04 के दौरान फगवारा के एक हिंदू संगठन ने राधे मां के खुद को दुर्गा का अवतार बताए जाने का विरोध किया था।

आसाराम बापू पर बच्ची से यौन शोषण का आरोप

आसाराम बापू- देशभर में आसाराम के करीब 425 आश्रम और 50 से अधिक गुरुकुल हैं। उनके लाखों अनुयायी देश-विदेश में फैले हैं। विवाद-आसाराम पर जोधपुर के आश्रम में 16 साल की बच्ची से यौन शोषण का आरोप है। इसी आरोप में आसाराम पिछले कई महीने से जेल में बंद हैं।

साबरमती नदी के किनारे बने उनके आश्रम में 2008 में 2 बच्चों के शव रहस्यमयी परिस्थितियों में मिले थे। इस मामले में भी उनपर मुकदमा चल रहा है।16 दिसंबर के निर्भया कांड पर आसाराम की अजीबोगरीब प्रतिक्रिया की भी काफी आलोचना हुई थी।

इसे भी पढ़े:- राम रहीम केस: जानें पूरे दिन राम रहीम केस क्या-क्या हुआ

संत रामपाल पर हत्या और हत्या की साजिश के आरोप

संत रामपाल- 63 साल के संत रामपाल, कभी एक जूनियर इंजीनियर हुआ करते थे। कुछ समय पहले वे, संत रामदेवानंद के संपर्क में आए। धीरे-धीरे उन्होंने हरियाणा में कई आश्रम खोल दिए। हरियाणा के बरवाला में 12 एकड़ में फैला है रामपाल का आश्रम।

विवाद- 2006 में आर्य समाज के लोगों के साथ रामपाल का विवाद हो गया। इस घटना में 1 व्यक्ति की मौत हो गई। घटना के बाद रामपाल के खिलाफ हत्या और हत्या की साजिश रचने और अदालत की मानहानि करने के कई मुकदमे दर्ज किए गए लेकिन वो अदालत में हाजिर नहीं हुए। रामपाल पर अपने आश्रम में महिलाओं और बच्चों को बंधक बनाकर रखने और उनसे गलत काम करवाने का आरोप था। नवंबर 2014 में रामपाल को गिरफ्तार करने में पुलिस को 10 दिनों का वक्त लगा। इस दौरान 6 श्रद्धालुओं की मौत हो गई और कई घायल हो गए। फिलहाल रामपाल सलाखों के पीछे है।

निर्मल बाबा पर पैसे ठगने के आरोप

निर्मल बाबा-1981 में निर्मलजीत सिंह नरूला ने निजी व्यवसाय शुरू किया। एक के बाद एक कई व्यवसाय बदलने पर भी जब सफलता नहीं मिली तो उन्होंने अपने आपको संत घोषित कर निर्मल बाबा नाम दिया। उन्होंने निर्मल दरबार आरंभ किया। इसके बाद पुलिस में उनके खिलाफ अवैध रूप से पैसे ठगने के मामले दर्ज होने लगे। वह निर्मल दरबार में अपनी दिव्य दृष्टि से लोगों की समस्याएं हल करने लगे।

साक्षी रामकृपालजी महाराज

साक्षी रामकृपालजी महाराज-अपने भक्तों के बीच वह साक्षी रामकृपालजी महाराज के नाम से जाने जाते हैं पर यूपी के ट्रांसपोर्ट विभाग में उन्हें उपाध्यायजी कहा जाता है। असल नाम है आरके उपाध्याय। बाबा होने के बावजूद 58 साल के उपाध्याय सरकारी जॉब में रहते हुए प्रमोशन भी पाते हैं।

और अपनी सहूलियत के मुताबिक पोस्टिंग भी पाते हैं। कुछ मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, दो साल पहले उपाध्याय ने एनसीआर से बाहर लखनऊ ट्रांसफर होने से बचने के लिए प्रमोशन तक को मना कर दिया था।

सत्य साईं बाबा आजीवन विवादों में रहे

सत्य साईं बाबा खुद को शिरडी के साईं बाबा का अवतार बताने वाले सत्य साईं बाबा भी आजीवन विवादों में घिरे रहे। उन पर हाथ की सफाई से विभूति लाने, घड़ी, नैकलेस आदि पैदा करने के आरोप लगे।

हालांकि उन्होंने इन सबपर चुप्पी साधे रखी। हालांकि सत्य साईं द्वारा स्थापित किए गए आश्रम की 126 देशों में शाखा है जो फ्री हॉस्पिटल और क्लिनिक चलाते हैं।

Next Story
Share it
Top