Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

BIG BREAKING: लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पास हुआ सवर्ण आरक्षण बिल

लोक सभा के बाद आह राज्यसभा में भी सवर्ण आरक्षण बिल पास हो गया।

BIG BREAKING: लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पास हुआ सवर्ण आरक्षण बिल

सवर्ण आरक्षण बिल (Upper Caste Reservation Bill) लोकसभा (Lok Sabha) में पास होने के बाद आज राज्यसभा (Rajyasabh) में भी पास हो गया, i स बिल को 12 बजे केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री और राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत ने पेश किया था। मंगलवार को लोकसभा में पेश करने के बाद बिल के समर्थन में 323 वोट और विरोध में महज 3 वोट पड़े थे।

सवर्ण आरक्षण बिल लाइव अपडेट -

राज्यसभा की कार्यवाही का लाइव स्ट्रीमिंग देखें -

लोक सभा के बाद आह राज्यसभा में भी सवर्ण आरक्षण बिल पास हो गया।

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने बोले यह बिल अपराध की अभिस्वीकृति है।

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने राज्यसभा में आरक्षण बिल पर चर्चा के दौरान कहा भाजपा महिला आरक्षण पर कभी बात क्यों नहीं करती? इस पर बिल क्यों नहीं लाती?

बीजेडी सांसद प्रसन्न आचार्य बोले- बिल देरी से आया, लेकिन सही आया, लेकिन कुछ खामियां है कोर्ट से चुनौती मिल सकती है।

टीडीपी ने राज्यसभा में 10 प्रतिशत सवर्ण आरक्षण बिल का समर्थन किया।

आरसीपी सिंह बोले- जेडीयू इस बिल के समर्थन में हैं, हम इसका स्वागत करते हैं

जेडीयू ने कहा निजी क्षेत्र में भी आरक्षण लागू किया जाए।

बहस के दौरान एआईएडीएमके के सांसदों ने किया विरोध, सदन से वॉकआउट

रामगोपाल यादव ने कहा कि उनकी पार्टी इस बिल का समर्थन करती है।

सदन में रामगोपाल यादव ने कहा कि यहां नौकरी तो मिल नहीं रही, आरक्षण का क्या करेंगे

राज्यसभा में जनरल कोटा पर बहस जारी

गोपाल यादव बोले - हम आरक्षण बिल का कर रहे हैं समर्थन

कांग्रेस ने सवर्ण आरक्षण बिल का समर्थन किया

राज्सभा सांसद ने कहा कि सरकार आखिरी सत्र में क्यों लाई ये बिल

राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने सवर्ण आरक्षण को लेकर कई सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि पिछड़ों को संरक्षण के लिए आरक्षण दिया। चुनाव के दौरान क्यों लाया गया ये बिल।

सदन में बहस के दौरान सीपीएम सांसद ने इस बिल को स्थगित करने की मांग की।

भाजपा राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने कहा कि पीएम ने पहली बार संसद को चुमते हुए कहा था कि ये सरकार गरीबों के विकास के लिए काम करेगी।

आरजेडी राज्यसभा सांसद मनोज झा ने आरक्षण बिल पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये नियमों का उल्लंघन है

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सबसे पहले राजनाथ सिंह ने नागरिक संशोधन बिल को लेकर पूर्वोत्तर राज्यों में बंद के दौरान हिंसा के बारे में बताया

राज्यसभा में अपर कास्ट बिल पर फिर से शुरू हुई बहस

सामान्य वर्ग को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने संबंधी संविधान 124वां संशोधन विधेयक पर बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस और द्रमुक साहित अन्य दलों के हंगामे के कारण सदन की बैठक एक बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे तक के लिये स्थगित

2 बजे तक के लिए राज्यसभा की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया है

राज्यसभा में आरक्षण बिल पर 8 घंटे तक चर्चा होगी

कांग्रेस सांसद मधुसूदन मिस्त्री बोले कि किसी बिल को पेश से दो दिन पहले उसकी कॉपी देनी पड़ती है

बिल पेश होने के बाद भाजपा राज्यसभा सांसद विजय गोयल ने कांग्रेस के सांसदों से आरक्षण बिल को पारित कराने की अपील की है

बिल पेश होने के बाद विपक्षी दल ने विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी है

थावर चंद गहलोत ने कहा कि अच्छी नियत के साथ यह बिल लाया गया है और इसे लोकसभा से भी मंजूरी मिल गई है

राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत ने सवर्ण आरक्षण बिल पेश किया

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू

राज्यसभा 12 बजे तक के लिए स्थगित हो गई है

कांग्रेस और विपक्षी दलों ने आरोप लगाते हुए कहा कि बिना बताए सत्र बढ़ाया गया

कांग्रेस ने कहा- राफेल पर आज तक कोई बात नहीं हुई

राज्यसभा में पक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा कि देश को उम्मीद है कि सदन कार्य करेगा। सामान्य कामकाजी दिनों के अनुसार, हमें काम करना चाहिए था, उनमें से अधिकांश पर सदन स्थगित हो गया। विधानों पर विचार करने के लिए एक अतिरिक्त दिन है।

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हो चुकी है

आज राज्यसभा में 2 बजे पेश होगा सवर्ण आरक्षण बिल

आरक्षण से जुड़ी अहम 5 बातें-

1. सभी दलों ने घोषणा पत्र में अनारक्षित आरक्षण की बात कही।
2. इस बिल से सभी की बराबरी का प्रयास किया गया है
3. पहली बार आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया गया है।
4. जाति को बदलना संभव नहीं है। संसद से 50फीसदी का दायरा बढ़ सकता है।
5. संविधान में 50 फीसदी आरक्षण का दायरा सामजिक तौर पर पिछड़े वर्गों के लिए लागू है, आर्थिक तौर नहीं है।
बता दें कि राज्यसभा की कुल 245 सीटों में से कम से कम 123 सदस्यों की मौजूदगी जरूरी होगी। उसका दो तिहाई वोट समर्थन में चाहिए होगा। वहीं बिल का पास कराने के लिए 163 वोटों की जरूरत होगी। बीजेपी के घटक दल एनडीए 88 प्लस है और कांग्रेस समेत अन्य दल 74 है ऐसे में संख्या बनती है 162।
Share it
Top