Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत का भविष्य कश्मीर के बेहतर भविष्य के बिना अधूराः राजनाथ

सिंह ने सभी कश्मीरियों से घाटी में युवाओं के भविष्य के साथ नहीं खेलने के लिए अपील की है।

भारत का भविष्य कश्मीर के बेहतर भविष्य के बिना अधूराः राजनाथ
श्रीनगर. कश्मीर घाटी में बीते 48 दिनों से लगातार हिंसा और झड़पों का दौर जारी है। इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को घाटी में अमन और शांति की बहाली के लिए श्रीनगर में हैं। सरकार ने इस ओर अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की और राज्य में सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की। सिंह ने श्रीनगर में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन का आयोजन भी किया।
गृहमंत्री का कश्मीर में अशांति के बाद यह दूसरी बार घाटी का दौरा है। बुधवार से अभी तक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लगभग 300 लोगों से मुलाकात की है। सिंह ने कहा कि श्रीनगर में पहुंचने के बाद से मैंने लगभग हर राजनीतिक दल के प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की है।
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, सिंह ने सभी कश्मीरियों से घाटी में युवाओं के भविष्य के साथ नहीं खेलने के लिए अपील करते हुए कहा, 'बच्चे बच्चे हैं। यदि वे पत्थर उठाते हैं तो उन्हें सलाह दी जानी चाहिए।'
गृहमंत्री ने जोर देकर कहा कि भारत का भविष्य कश्मीर के भविष्य के बिना नहीं हो सकता। मैंने पहले भी यह कहा है कि कश्मीर में युवाओं को अपने हाथ में पत्थरों की जगह कलम, किताबें और कंप्यूटर होना चाहिए। सिंह ने इसके साथ ही कहा कि सुरक्षा कर्मियों को अधिकतम संयम बरतने और पैलेट बंदूकों की जगह एक दूसरा विकल्प जल्द ही लाया जाएगा।
घाटी में राजनीतिक नेताओं के साथ बातचीत के दौरान सिंह को बताया गया कि केंद्र को कश्मीर समस्या के स्थायी समाधान खोजने के लिए सभी हितधारकों के साथ बातचीत शुरू करने की जरूरत है।
सिंह ने अर्ध सैनिक बलों और राज्य पुलिस प्रमुख को उनके काम की परिस्थितियों को समझने के लिए और उनके प्रमुखों के साथ अलग-अलग बैठकें आयोजित की। बाद में विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस के प्रतिनिधिमंडल पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने गृह मंत्री से मुलाकात की और उनसे आग्रह किया की तुरंत कश्मीर में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पैलेट बंदूक के उपयोग पर प्रतिबंध लगनी चाहिए।
श्रीनगर के लिए रवाना होने से पहले गृह मंत्री ने एक ट्वीट किया था, जो लोग 'कश्मीरियत, इंसानियत और जमहुरियत' में विश्वास करते हैं वो मुझसे आकर मिल सकते हैं उन सबका स्वागत है। गौरतलब है कि सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में गुरुवार को लगातार 48वें दिन भी कर्फ्यू और प्रतिबंध जारी है। पुलवामा जिले के पिंगलिना गांव में सुरक्षाबलों के साथ बुधवार को हुई झड़प में एक किशोर के मारे जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 69 हो गई है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top