Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजनाथ के घाटी में पहुंचते ही हिंसक प्रदर्शन, एक की मौत

एक महीने के अंदर यह गृहमंत्री राजनाथ सिंह का दूसरा जम्मू-कश्मीर दौरा है।

राजनाथ के घाटी में पहुंचते ही हिंसक प्रदर्शन, एक की मौत
X
श्रीनगर. कश्मीर में स्थिति की समीक्षा करने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को कश्मीर के पुलवामा जिले में पहुंच गए हैं। उनके पहुंचने के बाद एक बार फिर से प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हुई है जिसमें एक युवक की मौत हो गई और एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए हैं। जिस दौरान यह हादसा हुआ उस समय प्रदर्शनकारी पुलवामा जिले के परीको गावं के पास बने स्टेडियम में रैली को आयोजित करने की कोशिश कर रहे थे। रैली को नाकाम करने के लिए सुरक्षा बलों ने भीड़ को रोका जिसके बाद भड़के युवाओं ने सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी व देश विरोधी नारे लगाने शुरू कर दिए।
अपको बता दें, पिंगलिना में अमीर अहमद मीर की मौत हो गई है और झड़प में एक दर्जन से अधिक अन्य घायल हो गए हैं। आमिर को श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल के लिए स्थानांतरित कर दिया गया था जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। इस के साथ हाल ही में हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या 68 तक पहुंच गई है। आज पुलवामा में मार्च को विफल करने के लिए कड़ा कर्फ्यू लगाया गया है। इस मार्च का आह्वान वहां के स्थानीय लोगों ने किया था।
द ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, गृह मंत्री घाटी में स्थिति का जायजा लेने के लिए और विभिन्न राजनीतिक दलों और नागरिक समाज के नेताओं से मुलाकात करेंगे। बुधवार को कश्मीर में मौजूदा अशांति के 47 दिन हो गए हैं।
कश्मीर रवाना होने से पहले गृहमंत्री ने ट्वीट किया, 'मैं नेहरू गेस्टहाउस में रुकूंगा। जो कश्मीरियत, इंसानियत और जमहूरियत में यकीन रखते हैं उनका स्वागत है।' अपने अन्य ट्वीट में सिंह ने कहा, ‘‘नागरिक समाज समूहों, राजनीतिक दलों और अन्य पक्षों के साथ बातचीत करूंगा।' प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व में विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ सोमवार को राजधानी दिल्ली में हुई एक मुलाकात के बाद गृह मंत्री का कश्मीर का दौरा हो रहा है।
इससे पहले गृह मंत्री ने कहा था कि राज्य में हालात सुधरने के बाद सरकार किसी से भी बात करने को तैयार है। एक महीने के अंदर ये गृह मंत्री राजनाथ सिंह का दूसरा जम्मू-कश्मीर दौरा है। गौरतलब है कि घाटी के नौजवानों के हाथ में पिछले दिनों खूब पत्थर दिखे। केंद्र का मानना है कि इसकी एक अहम वजह इन नौजवानों की बेरोजगारी है। इसलिए अब केंद्र सरकार ऐसी कुछ योजनाएं शुरू करना चाहती है जिनसे इन बेरोज़गार हाथों को काम मिले।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top