logo
Breaking

अब एयरपोर्ट जैसे होंगे रेलवे के नियम, 20 मिनट पहले पहुंचना होगा स्टेशन

रेलवे एयरपोर्ट की ही तरह स्टेशनों पर भी ट्रेनों के तय प्रस्थान समय से कुछ समय पहले प्रवेश की अनुमति बंद करने की योजना बना रहा है। यात्रियों को सुरक्षा जांच की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 15 से 20 मिनट पहले पहुंचना होगा।

अब एयरपोर्ट जैसे होंगे रेलवे के नियम, 20 मिनट पहले पहुंचना होगा स्टेशन

रेलवे एयरपोर्ट की ही तरह स्टेशनों पर भी ट्रेनों के तय प्रस्थान समय से कुछ समय पहले प्रवेश की अनुमति बंद करने की योजना बना रहा है। यात्रियों को सुरक्षा जांच की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 15 से 20 मिनट पहले पहुंचना होगा।

रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने बताया कि उच्च तकनीक वाली इस सुरक्षा योजना को इस महीने शुरू हो रहे कुंभ मेला के मद्देनजर इलाहाबादऔर कर्नाटक के हुबली रेलवे स्टेशन पर पहले से ही शुरू कर दिया गया है।

साथ ही 202 रेलवे स्टेशनों पर योजना को लागू करने के लिए खाका तैयार कर लिया गया है। उन्होंने बताया, योजना रेलवे स्टेशनों को सील करने की है। यह मुख्यत: प्रवेश बिंदुओं की पहचान करने और कितनों को बंद रखा जा सकता है यह निर्धारित करने के संबंध में है।

ट्रेनों में बुजुर्गों और महिलाओं के लिए लोअर बर्थ में कोटा बढ़ा

कुछ इलाके हैं जिन्हें स्थायी सीमा दीवारें बनाकर बंद कर दिया जाएगा, अन्य पर आरपीएफ कर्मियों की तैनाती होगी और उसके बाद बचे बिंदुओं पर बंद हो सकने वाले गेट होंगे। कुमार ने कहा, प्रत्येक प्रवेश बिंदु पर आकस्मिक सुरक्षा जांच होगी।

ट्रेन रवाना होने से पहले

बहरहाल, हवाई्अड्डों के उलट यात्रियों को घंटों पहले आने की जरूरत नहीं होगी। प्रस्थान समय से केवल 15-20 मिनट पहले आना होगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सुरक्षा प्रक्रिया के चलते देरी न हो। इससे सुरक्षा बढ़ेगी, सुरक्षाकर्मियों की संख्या नहीं।

जवानों का बोझ कम

महानिदेशक अरुण कुमार का कहना है कि प्रवेश द्वारों पर तकनीकी जांच को बढ़ावा दिया जाने की योजना है। इससे जवानों का बोझ काफी कम हो सकेगा। 2016 में बने इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी सिस्टम के तहत सुरक्षा घेरा तैयार किया जा रहा है।

202 स्टेशनों के लिए 385 करोड़

आईएसएस के तहत 202 स्टेशनों का सुरक्षा घेरा मजबूत करने के लिए 385.06 करोड़ रुपए खर्च होंगे। स्टेशनों पर सर्विलांस सिस्टम को मजबूत किया जाएगा। यात्री के स्टेशन में घुसने से पहले बहु स्तरीय जांच की जाएगी।

Share it
Top