Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राहुल गांधी ने कहा, घटिया क्वालिटी की हैं SPG की टाटा सफारी कार, घुटता है दम

''राहुल ने 126 में से 100 बार एसपीजी की बात नहीं मानी है और अपनी मनमानी करते हैं।''

राहुल गांधी ने कहा, घटिया क्वालिटी की हैं SPG की टाटा सफारी कार, घुटता है दम

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर गुजरात के बाढ़ ग्रस्त इलाके के दौरे के दौरान उनके काफिले पर हुए पत्थरबाजी को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में सियासी उठा-पटक जारी है। कांग्रेस ने इस हमले में जहां बीजेपी का हाथ बताया वहीं मंगलवार को संसद में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जवाब देते हुए कहा कि राहुल गांधी को स्पेशल प्रॉटेक्शन ग्रुप (SPG) द्वारा मिली सुरक्षा का बार-बार उल्लघंन करते हैं। वो इनकी बात ना मानकर गाड़ी से बाहर निकल जाते हैं। राहुल ने जानबूझकर बुलप्रूफ गाड़ी नहीं ली है। राहुल ने 126 में से 100 बार एसपीजी की बात नहीं मानी है और अपनी मनमानी करते हैं।

इसे भी पढ़ेंः राहुल पर हमला मामलाः राजनाथ ने दी सफाई, कहा- 121 में से 100 बार नहीं मानी SPG की बा

इस बीच, खुलासा हुआ है कि राहुल के दफ्तर की ओर से अप्रैल 2016 में एसपीजी की बख्तरबंद टाटा सफारी गाड़ियों की शिकायत की गई थी। शिकायत में कहा गया था कि राहुल के काफिले में एसपीजी जिन गाड़ियों का इस्तेमाल करती है, वह सेहत के लिए खतरनाक हैं। इसमें यात्रियों के बैठने वाले कंपार्टमेंट में वेंटिलेशन की कमी बताई गई है।

इसके अलावा, कहा गया है कि गाड़ी के सेंटर ऑफ ग्रैविटी में खामी है और सीट लेआउट भी गड़बड़ है। यह भी शिकायत की गई है कि गाड़ी की खिड़की कुछ ही सेंटीमीटर खुलती है, जिसकी वजह से इसके अंदर बैठे शख्स के लोगों से मिलने और उनका अभिवादन करने में दिक्कत होती है। वहीं, इस गाड़ी पर लगा कवच भी फिजूल का खर्च जैसा नजर आता है।

एसपीजी चीफ विवेक श्रीवास्तव को लिखे एक लेटर में राहुल के स्टाफ ने कहा कि राहुल ने वक्त-वक्त पर इन खामियों के बारे में एसपीजी के सबसे सीनियर अधिकारियों का ध्यान दिलाया है। लेटर में लिखा है, 'स्वीकार्य पैमाने से नीचे ऑक्सीजन स्तर वाली इस घुटन भरी गाड़ी में लंबे वक्त तक सफर करना इसमें बैठे शख्स की सेहत के लिए खतरा है।'

इसे भी पढ़ेंः राहुल के गढ़ में लगे उनके ही लापता के पोस्टर, जानकारी देने वाले को मिलेगा इनाम

राहुल के ऑफिस की ओर से कहा गया कि वह इन खामियों को दूर करने के लिए सकारात्मक बातचीत करने के लिए तैयार है। हालांकि, मंगलवार को गृह मंत्रालय की एक अधिकारी ने बख्तरबंद टाटा सफारी पर राहुल की आपत्तियों को खारिज किया। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली समेत कई वीआईपी इन गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं।

Next Story
Share it
Top