Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानें कितने पढ़े-लिखे हैं राहुल गांधी, 3 साल तक लंदन में किया ये काम

1991 से 1994 तक राहुल ने रोलिंस कॉलेज में पढ़ाई की और आर्ट्स से ग्रेजुएशन पास किया।

जानें कितने पढ़े-लिखे हैं राहुल गांधी, 3 साल तक लंदन में किया ये काम
राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष से अध्यक्ष बन चुके हैं। उन्होंने शनिवार को पदभार संभाला। बता दें कि 47 वर्षीय राहिल 132 साल पुरानी कांग्रेस पार्टी के 49वें अध्यक्ष होंगे।
क्या आप जानतें हैं कि राहुल कितने पढ़े लिखे हैं? अगर नहीं तो हम आपको आज यही बताने जा रहे हैं। राहुल कई बार पढ़ाई बीच में छोड़ चुके हैं और उन्हें पढ़ाई के लिए अपना नाम भी बदलना पड़ा।
राहुल नेहरू-गांधी परिवार की चौथी पीढ़ी हैं। उनका जन्म 19 जून 1970 को नई दिल्ली में हुआ था। राहुल ने अपनी शुरूआती पढ़ाई दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से की है।
अपनी शुरूआती पढ़ाई राहुल ने देहरादून के 'दून स्कूल' से की। राहुल के पिता राजीव गांधी ने भी इसी स्कूल से पढ़ाई की है।
1984 में इंदिरा गांधी की हत्या होने के बाद राहुल को सुरक्षा कारणों के चलते अपनी पढ़ाई घर से ही करनी पड़ी।
1989 में राहुल ने दिल्ली का Saint stepehen कॉलेज में दाखिला लिया और सुरक्षा कारणों के चलते उन्हें यहां भी पढ़ाई छोड़नी पड़ी। आगे की पढ़ाई के लिए राहुल अमेरिका चले गए।
इसके बाद राहुल ने हावार्ड यूनीवर्सिटी में एडमिशन लिया। 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद सुरक्षा कारणों से उन्होंने यहां भी पढ़ाई छोड़ दी।
इसके बाद 1991 से 1994 तक रोलिंस कॉलेज में पढ़ाई की और आर्ट्स से ग्रेजुएशन पास किया। 1995 में यूनीवर्सिटी ऑफ कैंम्ब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज में एमफिल से डिग्री ली।
ग्रेजुएशन के बाद राहुल 3 साल तक लंदन के मॉनिटर समूह के लिए भी कार्य किया। बता दें कि यह कंपनी मैनेजमेंट गुरू माइकल पोर्टर की ही सलाहकार संस्था थी। यहां उन्होंने raul vinci के नाम से काम किया ताकि उन्हें कोई पहचान न पाए। ये भी सुरक्षा कारणों से ही किया गया।
मीडिया सूत्रों के अनुसार उन्होंने नाम बदलकर पढ़ाई भी की। राहुल ने मार्च 2004 में राजनीति में एंट्री ली और मई 2004 में अपने पिता राजीव गंधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीता भी।
Next Story
Share it
Top