Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राजन केे मुताबिक नोटबंदी से नहीं लगेगी काले धन पर लगाम

सरकार को नोटबंदी के बजाय भारतीय कर व्यवस्था को बेहतर बनाने पर ध्यान देना चाहिए

राजन केे मुताबिक नोटबंदी से नहीं लगेगी काले धन पर लगाम
नई दिल्ली. नोटबंदी के बाद आम लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है। विपक्षी पार्टियों, आर्थिक जानकारों समेत सोशल मीडिया पर बहुत से आम लोग भी पीएम मोदी के फैसले की आलोचना कर रहे हैं। अब इन आलोचना करने वालों में भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन भी शामिल हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रघुराम राजन नोटबंदी के पक्ष में नहीं थे, लेकिन पीएम मोदी को कुछ अन्य वरिष्ठ नौकरशाहों का समर्थन हासिल था, जिसकी वजह से उन्होंने ये बड़ा फैसला ले लिया।
राजन इससे पहले भी नोटबंदी को लेकर अपनी आशंकाएं सार्वजनिक रूप से व्यक्त कर चुके हैं। 2014 में उन्होंने इस पर अपनी राय रखते हुए कहा था, “चालाक लोग इससे बचने का रास्ता निकाल लेंगे।” राजन के अनुसार इससे बचने का एक तरीका ये हो सकता है कि जिन लोगों ने बड़े नोट इकट्ठे कर रखे हैं वो उन्हें छोटे नोटों में बदल लें जिससे उन्हें बदलना आसान हो जाएगा। राजन मानते हैं कि नोटबंदी किए जाने पर कालाधन रखने वाले बड़े नोटों से सोना खरीद सकते हैं जिसे पकड़ना और मुश्किल हो जाएगा।
राजन के अनुसार सरकार को नोटबंदी के बजाय भारतीय कर व्यवस्था को बेहतर बनाने पर ध्यान देना चाहिए। राजन ने बताया कि “अमेरिका में अधिक आय वालों पर 39 प्रतिशत तक कर लगता है, इसके अलावा वहां के राज्य भी अलग से टैक्स लगाते हैं। जबकि भारत में ये दर अधिकतम 33 प्रतिशत है।” राजन ने कहा था, “हमारे यहां टैक्स कई औद्योगिक देशों से कम है।”
काला धन जमा करने वालों पर बोलते हुए राजन ने कहा था, “मैं लेन-देन पर ज्यादा निगरानी रखने और जहां लोग अपनी आय घोषित नहीं कर रहे हैं वहां बेहतर कर प्रबंधन पर जोर देता है। मेरे ख्याल से आधुनिक अर्थव्यवस्था में पैसे छिपाना आसान नहीं है।” कालेधन पर रोक लगाने का कौन सा उपाय सही है ये तो विशेषज्ञ जानें लेकिन इतना तो साफ है कि पीएम मोदी और राजन के बीच इसको लेकर भी गहरे मतभेद थे।
मीडिया में खबरों के अनुसार नरेंद्र मोदी ने रघुराम राजन को गर्वनर के रूप में सेवा विस्तार नहीं दिया था। राजन ने साफ कहा था कि उन्हें अपना काम पूरा करने के लिए एक साल का समय और चाहिए लेकिन मोदी सरकार ने उनकी जगह उनके डिप्टी उर्जित पटेल को रिजर्ब बैंक ऑफ इंडिया का नया गवर्नर बना दिया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top