Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील पर हुआ साइन

इसे पिछले 20 वर्षों में पहली फाइटर जेट डील बताया जा रहा है।

36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील पर हुआ साइन
नई दिल्ली. भारत और फ्रांस के बीच शुक्रवार को 36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील पर साइन हुआ। यह डील 7.88 अरब यूरो (करीब 58,853 करोड़ रुपए) की है। भारत के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और फ्रांस के रक्षा मंत्री ड्रियान ने इस डील पर हस्ताक्षर किया।

इसे पिछले 20 वर्षों में पहली फाइटर जेट डील बताया जा रहा है। यूपीए शासन में राफेल को लेकर जो डील हुई थी, उसके मुकाबले अभी की डील में करीब 75 करोड़ यूरो (करीब 5,601 करोड़ रुपए) की बचत हो रही है। मोदी सरकार ने यूपीए वाली डील रद्द कर दी थी।

एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, मौजूदा डील में 50 प्रतिशत का ऑफसेट क्लॉज भी है। इसका अर्थ यह है कि भारतीय कंपनियों को इसमें कम से कम 3 अरब यूरो (करीब 22,406 करोड़ रुपए) का बिजनेस मिलेगा। राफेल विमान अत्याधुनिक मिसाइलों से लैस होंगे।

डील के मुताबिक, फाइटर जेट्स की डिलीवरी कॉन्ट्रैक्ट की तारीख से 36 महीनों में शुरू होगी और 66 महीनों में पूरी हो जाएगी। 36 विमानों की लागत करीब 3.42 अरब यूरो (करीब 25,542 करोड़ रुपए) है। इन्हें हथियारों से लैस करने पर लागत में इजाफा होगा। ऐसे में लागत लगभग 71 करोड़ यूरो (करीब 5,302 करोड़ रुपए) है।

वहीं, भारत की जरूरतों के मुताबिक, इसमें बदलाव करने में 170 करोड़ यूरो (करीब 12,696 करोड़ रुपए) की लागत आएगी। इसमें बियॉन्ड विजुअल रेंज मेटियोर एयर टु एयर मिसाइल लगी होगी, जिसकी मारक क्षमता 150 किमी से ज्यादा की है। इसका मतलब यह है कि वायुसेना भारतीय इलाके में रहते हुए भी इन विमानों से पाकिस्तान के भीतर के ठिकानों को निशाने पर ले सकेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
hari bhoomi
Share it
Top