Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम प्रकाश सिंह बादल के आवास पर पुलिस ने मासूमों पर भांजी लाठियां

पंजाब पुलिस के लाठीचार्ज में कई महिलाएं भी घायल हुई हैं।

सीएम प्रकाश सिंह बादल के आवास पर पुलिस ने मासूमों पर भांजी लाठियां
X
मुक्तसर. मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के गांव में कर्मचारियों पर पुलिस का कहर टूटा। पुलिस ने बादल गांव में प्रदर्शन कर रहे व सीएम की कोठी घेरने जा रहे और सुविधा केंद्रों के कर्मचारियों को जमकर लाठीचार्ज किया। महिला कर्मचारियों को भी नहीं बख्शा। पुलिस ने उन पर वाटर कैनन से पानी की बौछार भी की। इससे काफी संख्या में कर्मचारी घायल हो गए।
ये कर्मचारी पिछले 15 दिन से स्थायी करने की मांग को लेकर लंबी में धरना दे रहे थे। शुक्रवार को प्रदर्शन कर रहे कर्मचारी अचानक बादल गांव की ओर मुख्यमंत्री का आवास घेरने निकल पड़े। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो दोनों के बीच जमकर झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। इस दौरान तीन पुलिस कर्मियों सहित करीब दो दर्जन सुविधाकर्मी घायल हो गए।
मुख्यमंत्री का आवास घेरने जा रहे सुविधाकर्मी जब गांव ख्योवाली के पास पहुंचे तो पुलिस ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे पुलिस कर्मियों से धक्का मुक्की करते हुए आगे बढ़ गए। गांव बादल में प्रदर्शनकारी कांग्रेस नेता ओरसीम बादल के भतीजे मनप्रीत बादल के आवास के निकट पहुंचे तो पुलिस ने बैरीकेड लगाकर उन्हें रोकने का प्रयास किया। यहां से भी वे बैरीकेड तोड़ते हुए आगे निकल गए।
इसके बाद प्रदर्शन कर रहे मुख्यमंत्री आवास की ओर से बढ़े तो उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और वाटर कैनने से पानी की बौछार की। लाठीचार्ज से काफी संख्या में कर्मचारी घायल हो गए। पुलिस ने इस दौरान महिला कर्मचारियों को भी नहीं बख्शा।
प्रदर्शनकारियों के अनुसार, पुलिस ने पांच हवाई फायर भी किए। दूसरी आर, पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। पुलिस कर्मियों से मारपीट की। बड़ी मुश्किल से स्थिति पर नियंत्रण पाया और काफी संख्या में प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर थाना लंबी ले जाया गया।
कर्मचारियों के अनुसार लाठीचार्ज में कुलदीप कौर जालंधर, अमरीक सिंह लुधियाना, नरेश कुमार, राजवीर सिंह व विनीत जालंधर, लक्खा सिंह मानसा, सरबजीत कौर, कर्मजीत कौर, मोहन लाल लुधियाना, दलजीत कौर कपूरथला, विनोद कुमार, चरनजीत सिंह, सतनाम सिंह, वरिंदर सिंह, राजीव कुमार और गौरव कुमार जख्मी हुए हैं। ककाफी संख्या में अन्य कर्मचारियों को भी चोटें लगी हैं।
पुलिस का कहना है कि सुविधा कर्मियों के हमले में हेडकांस्टेबल वरिंदर सिंह, बंसी कुमार व गुरबख्श सिंह घायल हो गए। एक पुलिस कर्मी का पांव टूटा है और दो के सिर में चोटें लगी हैं। घायल लोग गांव बादल, लंबी, मलोट व बठिंडा के विभिन्न अस्पतालों में उपचाराधीन हैं
गर्भवती कर्मचारी का आरोप एसपी ने पीटा
जालंधर निवासी पांच माह की गर्भवती कुलदीप कौर ने आरोप लगाया कि एसपी बलराज सिंह ने उन्हें लातों व डंडों से पीटा। उन्हाेंने उसके साथ में गाली-गलौज भी की।
एसएसपी का बयान
एसएसपी गुरप्रीत सिंह गिल ने कहा कि सुविधा कर्मियों ने लंबी व ख्योवाली पोस्ट पर पुलिस कर्मियों की बुरी तरह से पिटाई की और वर्दी फाड़ दी। गांव बादल में बैरीकेड तोड़ा और पुलिसकर्मियों पर पथराव किया।
इसके बाद ही पुलिस को प्रशासकीय आदेश पर लाठीचार्ज करने के लिए मजबूर होना पड़ा। एसएसपी ने हवाई फायरिंग तथा एसपी बलराज सिंह द्वारा गर्भवती महिला कर्मचारी को पीटने के आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों के नेतृत्वकर्ताओं के खिलाफ इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story