Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari : पुलवाम शहीदों के लिए शायरी, करें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari : अगर आप गूगल पर पुलवाम शहीदों के लिए शायरी सर्च कर रहे हैं तो हरिभूमि आपके लिए आए हैं वो देशभक्ति शायरी जिसे पढ़कर आँखें नम हो जाएगी।

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari : पुलवाम शहीदों के लिए शायरी, करें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari : अगर आप गूगल पर पुलवाम शहीदों के लिए शायरी सर्च कर रहे हैं तो हरिभूमि आपके लिए आए हैं वो देशभक्ति शायरी जिसे पढ़कर आँखें नम हो जाएगी। लोग में ऐसे समय में देशभक्ति का जज्बा जाग जाता है। पढ़िए 'कवि कलिशंकर द्वारा लिखित' पुलवाम शहीदों के लिए शायरी (Pulwama Sahido Ke Liye Shayari)...

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

न इंतिज़ार करो इनका ऐ अज़ा-दारो

शहीद जाते हैं जन्नत को घर नहीं आते

-साबिर ज़फ़र

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

क्या मोल लग रहा है शहीदों के ख़ून का

मरते थे जिन पे हम वो सज़ा-याब क्या हुए

-साहिर लुधियानवी

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

शहीदों की चिताओं पर जुड़ेंगे हर बरस मेले

वतन पर मरनेवालों का यही बाक़ी निशाँ होगा

- जगदंबा प्रसाद मिश्र ‘हितैषी’

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

जब देश में थी दीवाली, वो खेल रहे थे होली

जब हम बैठे थे घरों में, वो झेल रहे थे गोली

-कवि प्रदीप

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

अजल से वे डरें जीने को जो अच्छा समझते हैं।

मियाँ! हम चार दिन की जिन्दगी को क्या समझते हैं?

- रामप्रसाद बिस्मिल

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

मौत एक बार जब आना है तो डरना क्या है!

हम इसे खेल ही समझा किये मरना क्या है?

-अशफ़ाकउल्ला खां

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

मेरे जज्बातों से इस कदर वाकिफ हैं मेरी कलम

मैं इश्क भी लिखना चाहूँ तो भी, इंकलाब लिख जाता हैं !

- भगत सिंह

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

मर के पाया शहीद का रुत्बा

मेरी इस ज़िंदगी की उम्र दराज़

-जोश मलीहाबादी

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

हम शहीदों को कभी मुर्दा नहीं कहते 'अनीस'

रिज़्क़ जन्नत में मिले शान यहाँ पर बाक़ी

-अनीस अंसारी

Pulwama Sahido Ke Liye Shayari Desh Bhakti Shayari

पुलवाम शहीदों के लिए शायरी / देशभक्ति शायरी

'सैंकड़ों परिंदे आसमान पर आज नजर आने लगे'

'बलिदानियों ने दिखाई है राह उन्हें आजादी से उड़ने की'

-अज्ञात

Next Story
Share it
Top