Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पुलवामा आतंकी हमलाः मास्टरमाइंड कामरान राशिद गाजी समेत तीन आतंकी ढेर, पांच जवान भी शहीद

पुलवामा में हुए फिदायीन हमले के मास्टरमाइंड कामरान राशिद गाजी और उसके दो साथियों को सेना ने मार गिराया। 18 घंटे चली मुठभेड़ में मेजर समेत पांच जवान शहीद हो गए।

पुलवामा आतंकी हमलाः मास्टरमाइंड कामरान राशिद गाजी समेत तीन आतंकी ढेर, पांच जवान भी शहीद

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के पिंगलिन इलाके में रविवार को आधी रात के बाद शुरू हुई मुठभेड़ 18 घंटे चली। इस दौरान पुलवामा में हुए फिदायीन हमले के मास्टरमाइंड कामरान राशिद गाजी और उसके दो साथियों को सेना ने मार गिराया।

वहीं 18 घंटे चली मुठभेड़ में मेजर समेत पांच जवान शहीद हो गए। साउथ कश्मीर के डीआईजी, सेना के ब्रिगेडियर और लेफ्टिनेंट को भी गोली लगी है। एक नागरिक के भी मारे जाने की खबर है। इस मुठभेड़ के बाद स्थानीय लोगों ने सुरक्षाबलों पर पथराव भी किया।

लेकिन सेना ने उनके ठिकाने को उड़ा दिया है। पूरे इलाके को घेरकर ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। मुठभेड़ में पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड रशीद गाजी और उसके दो साथियों को मार गिराया। पुलवामा हमले के चार दिन बाद ही सुरक्षाबलों ने गाजी को ढेर कर दिया है। ऑपरेशन के दौरान पिंगलेना गांव में भारी हिंसा हुई है जिसे देखते हुए इलाके में सीआरपीएफ की कई टीमों को तैनात किया गया है।
आतंकियों के साथ हो रही मुठभेड़ में सुबह जैश के दो टॉप कमांडरों को मार गिराया गया था। इसके बाद शाम को इनका तीसरा साथी भी मार गिराया गया। मुठभेड़ के दौरान इलाके में सेना और पुलिस की कई टीमों को सोमवार दोपहर तैनात कराया गया था। दोपहर बाद इस ऑपरेशन में एसएसपी पुलवामा, डीआईजी साउथ कश्मीर समेत सीआरपीएफ और सेना के कई अधिकारी भी शामिल हुए थे।
सूत्रों के मुताबिक, पिंगलेना गांव में सोमवार सुबह से ही रुक-रुककर पत्थरबाजी हो रही है, जिसे देखते हुए सीआरपीएफ की टीमों को यहां सैन्य ऑपरेशन के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात कराया गया है। आतंकियों से मुठभेड़ के बीच सेना लगातार अपनी जवाबी कार्रवाई कर रही है।
ये हुए शहीद
सोमवार तड़के सर्च ऑपरेशन चलाया गया। शहीद हुए जवान 55 राष्ट्रीय राइफल्स के थे। इनमें मेजर डीएस ढोढियाल, हेड कॉन्स्टेबल सेवराम, सिपाही अजय कुमार, सिपाही हरि सिंह और सिपाही गुलजार अहमद शामिल हैं।
डीआईजी के पैर में लगी गोली
क्रॉस फायरिंग में डीआईजी अमित कुमार को भी पैर में गोली लगी, जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने तत्काल उन्हें स्थानीय अस्पताल में पहुंचाया। यहां प्राथमिक उपचार के उपचार के बाद उन्हें चॉपर के जरिए इलाज के लिए दिल्ली भेजने की तैयारी शुरू की गई। इस घटना के कुछ देर बाद सेना के एक ब्रिगेडियर को भी पेट में गोली लगी, जिसके बाद उन्हें श्रीनगर के सैन्य अस्पताल में शिफ्ट कराया गया।
सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा है। वे आतंकियों को ढेर कर रहे हैं। गृहमंत्री के इस बयान के कुछ घंटों बाद पिंगलेना में एक अन्य आतंकी को भी सेना ने मार गिराया।

चार दिन में 46 जवान शहीद
पिछले चार दिन में राज्य में आतंकी घटनाओं में 45 जवानों की जान जा चुकी है। इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। वहीं, शनिवार को राजौरी के नौशेरा सेक्टर में एक आईईडी को नाकाम करते वक्त सेना के मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हो गए थे। सोमवार को पांच जवान शहीद हो गए।
Share it
Top