logo
Breaking

पुलवामा आतंकी हमला : जांच में बड़ा खुलासा, 200 किलो RDX से किया धमाका

पुलवामा आतंकी हमले में फॉरेंसिक जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। जांच दल बताया कि इस हमले में 200 किलो RDX का इस्तेमाल किया गया था। इतना ही नहीं आतंकियों को ये भी पता है कि जिस बस पर उन्हें हमला करना है वह बुलेट प्रूफ नहीं थी।

पुलवामा आतंकी हमला : जांच में बड़ा खुलासा, 200 किलो RDX से किया धमाका

पुलवामा आतंकी हमले में फॉरेंसिक जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। जांच दल बताया कि इस हमले में 200 किलो RDX का इस्तेमाल किया गया था। इतना ही नहीं आतंकियों को ये भी पता है कि जिस बस पर उन्हें हमला करना है वह बुलेट प्रूफ नहीं थी। बता दें कि 14 फरवरी गुरूवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के श्रीनगर जम्मू राजमार्ग पर अवंतिपुरा इलाके में पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा सीआरपीएफ जवानों की बस पर आतंकी हमला किया गया जिसमें सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए, जबकि गई घायल हो गए थे।

पुलवामा आतंकी हमला सर्वदलीय बैठक

पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर शनिवार को सर्वदलीय बैठक हुई, जिसमें केंद्र सरकार विभिन्न दलों के शीर्ष नेताओं को इस चुनौती से निपटने के लिए उठाए गए अपने कदमों से अवगत कराया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह बैठक बुलाई थी, जिसमें कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा एवं ज्योतिरादित्य सिंधिया, तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय एवं डेरेक ओ'ब्रायन, शिवसेना के संजय राउत, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के जितेंद्र रेड्डी, भाकपा के डी राजा, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारुक अब्दुल्ला और लोजपा के रामविलास पासवान समेत कई अन्य नेता शामिल हैं। सिंह हमले के बाद की स्थिति का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को कश्मीर में मौजूद थे।

पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय समुदाय के भीतर अलग-थलग

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि दलों को पुलवामा में हुए हमले और सरकार ने अब तक इस संबंध में क्या-क्या कदम उठाएं हैं इस बारे में सूचित किया जाएगा। अकाली दल के नरेश गुजराल, रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा एवं राजद के जय प्रकाश नायाराण यादव भी इस बैठक में शामिल थे। राजनीतिक पार्टियों ने हमले के बाद एकजुटता दिखाई है और इस मामले में राजग सरकार की कार्रवाई को अपना समर्थन दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा है कि हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित किया जाएगा और उनकी सरकार ने पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के भीतर अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक आक्रामकता दिखानी शुरू कर दी है।

Loading...
Share it
Top