Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अगर आपको भी है फेसबुक पर न्यूड फोटो अपलोड होने का डर, तो बचने के लिए करें ये काम

फेसबुक पर अश्लील या न्यूड फोटो अपलोड होने से बचने के लिए ये छोटा सा काम करना होगा।

अगर आपको भी है फेसबुक पर न्यूड फोटो अपलोड होने का डर, तो बचने के लिए करें ये काम

अगर आपको भी इस बात का डर सता रहा है कि कहीं आपका एक्स ब्वॉयफ्रेंड आपकी अश्लील या न्यूड फोटो फेसबुक पर अपलोड ना कर दे, तो इससे बचने के लिए आपको फेसबुक पर एक छोटा सा काम करना होगा। जिससे आप रिवेंज पॉर्न का शिकार होने से बच सकते हैं।

इसके लिए आपको अपनी एक न्यूड फोटो फेसबुक को देनी होगी और बदले में फेसबुक आपको रिवेंज पॉर्न से बचाएगा। यह बात सुनने में थोड़ी अजीब है लेकिन इसको करने में आपका ही फायदा है।

इसे भी पढ़ें- पत्नी ने पति की हत्या कर लाश को छील कर पकाया, फिर बच्चों को खाने के लिए परोसा

फेसबुक ऑस्ट्रेलियन गवर्नमेंट की एजेंसी ई-सेफ्टी के साथ साझेदारी कर रिवेंज पॉर्न को रोकने और अश्लील तस्वीर को शेयर होने से रोकने की कोशिश के लिए ऐसा कर रहा है। फिलहाल इसका टेस्ट अभी ऑस्ट्रेलिया में किया जा रहा है।

ऑस्ट्रलियन फाइनेंस की रिव्यू रिपोर्ट के अनुसार, अगर किसी फेसबुक यूजर को खुद को रिवेंज पॉर्न का शिकार होने से बचाना है तो उसके लिए आपको सबसे पहले ऑस्ट्रेलिया के ई-सेफ्टी कमिश्नर से संपर्क करना होगा। इसके बाद मैसेंजर के जरिए अपनी एक तस्वीर खुद को भेजनी होगी। ऐसा करने से फेसबुक को उस फोटो का डिजिटल फिंगरप्रिंट तैयार करेगा।

ऑस्ट्रलियन फाइनेंस के अनुसार, ई-सेफ्टी कमिश्नर इनमान ग्रांट ने बताया कि मैसेंजर से खुद को फोटो भेजना खुद को ई-मेल के जरिए पिक्चर भेजने जैसा है। लेकिन ये ई-मेल से ज्यादा सुरक्षित मीडियम है। क्योंकि किसी दूसरे को फोटो भेजने के बजाए खुद को भेजना ज्यादा सुरक्षित है।

इस प्रोसेस में आपकी फोटो को कहीं स्टोर नहीं किया जाएगा, बल्कि आपकी फोटो के लिंक को स्टोर करके रखा जाएगा। इसके लिए फोटो मैचिंग तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इस प्रोसेस के बाद अगर एक बार आपकी फोटो का लिंक सेव हो गया और डिजिटल फिंगरप्रिंट तैयार हो गया तो फेसबुक आपको आसानी से रिवेंज पॉर्न का शिकार होने से बचा सकता है।

इसे भी पढ़ें- अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को महिला ने दिखाई उंगली, मिली ऐसी सजा

इसके बाद अगर आगे कभी कोई भी आपकी अश्लील फोटो अपलोड करने की कोशिश करेगा तो वह अपलोड नहीं होगी। फेसबुक का यह टेस्ट अभी केवल ऑस्ट्रेलिया में किया जा रहा है। लेकिन जल्द ही इसका टेस्ट कनाडा, युनाइटेड किंगडम और युनाइटेड स्टेट्स में भी किया जाएगा।

Next Story
Top