Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई ने कैसे बदल दी गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी

प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई की थ्योरी गुरुग्राम पुलिस से बिल्कुल अलग है।

प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई ने कैसे बदल दी गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी

गुरुग्राम के रयान इंटरनेशनल स्कूल में छात्र प्रद्युम्न के हत्या की जांच कर रही सीबीआई ने दावा किया है कि उसने मामले का खुलासा कर लिया है।

सीबीआई ने गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी को पलट दिया है और प्रद्युम्न की हत्या के मामले में उसी के स्कूल के 11वीं के छात्र को गिरफ्तार कर लिया है। सीबीआई की थ्योरी गुरुग्राम पुलिस से बिल्कुल अलग है।

सीबीआई का कहना है कि इस मामले में पकड़े गए बस कंडक्टर अशोक और ड्राइवर का हत्या में कोई हाथ नहीं है। न ही प्रद्युम्न का यौन शोषण हुआ है।

गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी

  • बस कंडक्टर अशोक ने प्रद्युम्न की टॉयलेट में हत्या की।
  • आरोपी अशोक ने बस में रखे टूल बॉक्स में से चाकू निकालकर प्रद्युम्न का गला रेता।
  • बस कंडक्टर को टॉयलेट में गलत काम करते देखना प्रद्युम्न की हत्या की वजह।
  • आरोपी ने प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण की भी कोशिश की।

सीबीआई की थ्योरी

  • प्रद्युम्न की हत्या रेयान इंटरनेशनल स्कूल के ही 11वीं के छात्र ने की।
  • आरोपी छात्र ने हत्या से एक दिन पहले बाजार से खरीदा चाकू।
  • हत्या की वजह परीक्षा और पीटीएम को टालना था।
  • प्रद्युम्न का यौन शोषण नहीं किया गया था।
हरियाणा पुलिस की जांच के उलट सीबीआई ने 11वीं के छात्र को हत्या का आरोपी बनाया है। सीबीआई भले इस मामले का खुलासा करने का दावा कर रही हो, लेकिन सीबीआई की ये थ्योरी गले से नहीं उतर रही है और इस पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

क्या था पूरा मामला

8 सितम्बर को रयान इंटरनेशनल स्कूल के टॉयलेट में कक्षा दो का छात्र प्रद्युम्न ठाकुर मृत मिला था। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया गया था।

पूरे देश में प्रद्युम्न की हत्या को लेकर हंगामा मच गया था, जिसके बाद हरियाणा सरकार ने 22 सितंबर को मामला सीबीआई को सौंप दिया था।

Share it
Top