Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इजरायली पीएम नेतन्याहू बोले- शक्तिशाली ही जिंदा रह पाता, कमजोर नहीं

इजरायली के पीएम नेतन्याहू ने कहा, भारत विविधताओं से भरा देश है। लोकतंत्र सबसे ज्यादा अहमियत रखता है।

इजरायली पीएम नेतन्याहू बोले- शक्तिशाली ही जिंदा रह पाता, कमजोर नहीं

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भारत से दुनिया की एक बड़ी ताकत बनने का आह्वान किया है। मंगलवार को उन्होंने कहा कि शक्तिशाली ही जिंदा रह पाता है, कमजोर नहीं। उन्होंने कहा कि इसके लिए आपको मजबूत के साथ गठबंधन करना होता है। नेतन्याहू ने कहा कि आप मजबूत होकर ही शांति बरकरार रखने की स्थिति में पहुंच सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मुझे सॉफ्ट पावर पसंद है लेकिन हार्ड पावर ज्यादा बेहतर है। भारत को पड़ोसी देशों से मिल रही चुनौतियों को देखते हुए इजरायल के प्रधानमंत्री के इस बयान को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

अपने अस्तित्व को सुनिश्चत करने बढ़ानी होगी ताकत

रायसीना डायलॉग के तीसरे सम्मेलन के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए मंगलवार को इजरायली पीएम ने बताया कि इसीलिए हमारे पहले पीएम ने यह सोचा था कि ताकतवर होना पहली जरूरत है,हमें अपने अस्तित्व को सुनिश्चित रखने के लिए ताकत बढ़ानी होगी। नेतन्याहू ने लोकतंत्र के महत्व की बात करते हुए भारत की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के साथ मेरी घनिष्ठ मित्रता की तरह ही भारत और इजरायल स्वभाविक दोस्त हैं। श्रोताओं में पीएम मोदी भी मौजूद थे।
उन्होंने कहा कि मैं यह जानकर चकित हो गया कि पीएम मोदी ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में पिछले तीन वर्षों में भारत को 42 स्थान ऊपर पहुंचा दिया है। इजरायली पीएम ने कहा कि अगर आप आर्थिक ताकत बनना चाहते हैं तो आपको टैक्सेज कम और सरल करने होंगे। भारत और इजरायल दोनों देशों का मुख्य उद्देश्य नौकरशाही में कटौती करना है,जिससे फर्म्स के लिए बिजनेस करना आसान हो सके।

भारत विविधताओं से भरा देश

नेतन्याहू ने कहा कि भारत दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्र है। इससे यह पता चलता है कि पूरी स्वतंत्रता के साथ शासन किया जा सकता है और हम लोगों के अधिकारों के साथ-साथ सोचने, बोलने की पूरी छूट दे सकते हैं। उन्होंने कहा, भारत विविधताओं से भरा देश है। लोकतंत्र सबसे ज्यादा अहमियत रखता है।
इजरायली पीएम ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था एक दूसरे को स्वाभाविक तरीके से बांधे रहती है। उन्होंने बताया,जब मैं आगरा जैसे भारत के क्षेत्रों में गया तो मैंने लोगों की मित्रता और सहानुभूति को देखा। किसी ने मुझसे कहा कि हम खुश हैं कि आप हमारे प्रधानमंत्री के दोस्त हैं। हम आपके मित्र हैं और इजरायल के भी।
उन्होंने सैन्य पावर, आर्थिक पावर, राजनीतिक पावर के साथ सांस्कृतिक पावर की भी बात की। नेतन्याहू ने कहा कि सैन्य शक्ति आर्थिक शक्ति से आती है और आर्थिक शक्ति शिक्षा से। इजरायल की मुख्य एजुकेशनल मशीन देश की डिफेंस फोर्सेज हैं। उन्होंने आगे कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी मेरे प्यारे दोस्त हैं, इजरायल के दोस्त हैं और मैं इजरायल के लोगों की तरफ से हमारे स्वागत के लिए शुक्रिया कहना चाहूंगा।
उधर, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रेरणात्मक संबोधन के लिए पीएम नेतन्याहू को धन्यवाद दिया। उन्होंने इजरायल को सच्चा दोस्त बताया। कहा कि पीएम नेतन्याहू का भारत दौरा दोनों देशों के 25 वर्षों के कूटनीतिक संबंधों का जश्न है। गौरतलब है कि यह कार्यक्रम तीन दिनों तक चलेगा।
Next Story
Share it
Top