Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

HC ने ममता को लगाई फटकार, कहा- मूर्ति विसर्जन पर अंकुश गलत

कोर्ट ने मुहर्रम के चलते सरकार द्वारा मूर्ति विसर्जन के लिए तय किए गए समय को सरकार का मनमाना रवैया करार दिया।

HC ने ममता को लगाई फटकार, कहा- मूर्ति विसर्जन पर अंकुश गलत
कोलकाता. कोलकाता में दशहरा के मौके पर कलकत्ता हाई कोर्ट ने दुर्गा की मूर्तियों के विसर्जन पर लगाए गए अंकुश को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार को फटकार लगाई है। कोर्ट ने मुहर्रम के चलते सरकार द्वारा मूर्ति विसर्जन के लिए तय किए गए समय को सरकार का मनमाना रवैया करार दिया। हाई कोर्ट ने कहा है कि सरकार के इस फैसले से साफ़ पता चलता है कि वह 'अल्पसंख्यकों को रिझाने' की कोशिश कर रही है।
एनबीटी की खबर के मुताबिक, जस्टिस दीपांकर दत्ता की एकल बेंच ने 6 अक्टूबर को इस मामले पर अपना फैसला सुनाया। बेंच ने सरकार के इस कदम पैर फैसला सुनाते हुए कहा कि मौजूदा समय काफी मुश्किल है। ऐसे में धर्म और राजनीती को मिक्स करना बेहद खतरनाक हो सकता है।
उन्होंने कहा कि ऐसा कोई भी फैसला नहीं लिया जाना चाहिए, जिससे एक समुदाय, दूसरे के खिलाफ खड़ा हो। कोर्ट ने सरकार के इस फैसले को मनमाना और तनाव बढ़ाने वाला बताया।
कोर्टने कहा, 'राज्य सरकार के इस इस फैसले से साफ़ है कि वह बहुसंख्यकों की कीमत पर अल्पसंख्यकों को खुस करने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही सरकार ने अपने इस फैसले के पक्ष में कोई दलील भी नहीं दी है।'
इस साल विजयादशमी 11 अक्टूबर को है वहीँ इसके अगले दिन ही मुहर्रम भी है। कोर्ट ने पुलिस और प्रशासन को मूर्ति विसर्जन और ताजिए के लिए रुट तय करने का आदेश दिया है। फैसला सुनते हुए जज ने कहा कि इससे पहले कभी भी विजयादशमी के दिन मूर्तियों के विसर्जन पर पाबंदी लगाई गई। ऐसे में ये फैसला पूरी तरह एक वर्ग से भेदभाव करने जैसा है।
सुनवाई के दौरान 1982 और 1983 का उदाहरण भी रखा गया, जब विजयादशमी के अगले दिन ही मुहर्रम मनाया गया था, लेकिन उस वक़्त भी ऐसे कोई पाबंदी नहीं लगाई गई थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top