logo
Breaking

दिल्ली में सीलिंग को लेकर भिड़े आप और बीजेपी, सीएम केजरीवाल ने कहा - जाएंगे सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि वह सीलिंग रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। तो वहीं बीजेपी ने सीएम आवास के बाहर मोर्चा खोल दिया है।

दिल्ली में सीलिंग को लेकर भिड़े आप और बीजेपी, सीएम केजरीवाल ने कहा - जाएंगे सुप्रीम कोर्ट

राजधानी दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे को लेकर जमकर राजनीति हो रही है। आम जनता की नाराजगी से बचने के लिये भाजपा और आप दोनों ही सीलिंग की जिम्मेदारी एक-दूसरे पर डाल रहे हैं।

इसी सिलसिले में सोमवार को भाजपा ने मीडिया को बुलाकर कहा था कि दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निवास स्थल पर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी प्रतिनिधिमंडल के साथ जायेंगे। और केजरीवाल से सीलींग मुद्दे के समाधान और उनको इस मामले की जिम्मेदारी का एहसास दिलाने के लिये बातचीत करेंगे।

इसके कुछ देर बाद ही दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को चिठ्ठी लिखी और कहा कि मुझे बीजेपी के रविन्द्र गुप्ता ने पत्र भेजा है। पत्र में उन्होंने बताया है कि मनोज तिवारी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल सुबह 9 बजे मेरे आवास पर आ रहा है।
और सीलींग के मुद्दे पर मुझसे बात करेंगे। जबकि सीलींग का मामला सीध-सीधे आपके अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आता है तो मैं सुबह 9:30 बजे तक इन सबको और आम आदमी पार्टी के विधायकों व पार्षदों सहित आपसे मिलने आता हूं।
जब आज दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित बीजेपी के कई बड़े नेता मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करने उनके घर पहुंचे। तो केजरीवाल ने बीजेपी नेताओं को आदर से बिठाया और बातचीत की, लेकिन बैठक में बहस और हंगामा हो गया।
इसके बाद इस मामले पर केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि वह सीलिंग रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।
अरविंद केजरीवाल का कहना है MCD की सीलिंग की वजह से इतने सारे लोगों की रोजी रोटी चली गयी है। काम बंद हो गए ये दुःख की बात है। उन्होंने कहा कि कल जब बीजेपी की चिट्ठी आयी की वे मुझसे सीलिंग के मुद्दे पर मिलना चाहते हैं।
और यह जानकर मुझे ख़ुशी हुई की हम सब सामने मिल बैठ कर समाधान निकाल लेंगे, लेकिन वो बंद कमरे में बैठ कर बात करना चाहते थे।
इसके अलावा केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की 351 सड़कों का मुद्दा, सीलिंग का मुद्दा बिलकुल भी नहीं है। हम विधि विशेषज्ञों के संपर्क में हैं और सीलिंग रुकवाने के लिए दिल्ली सरकार सुप्रीम कोर्ट जायेगी। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल और केंद्र सरकार चाहें तो ये विवाद सुलझ सकता है। केंद्र सरकार को इसपर अध्यादेश लाना चाहिए।
वहीं दुसरी मनोज तिवारी का कहना है कि हमने केजरीवाल से मिलने का समय मांगा था। उन्हें पत्र भी लिखा था कि पूरी दिल्ली सीलिंग से परेशान है। लेकिन आज जब समय मांगा तो उन्होंने मीडिया को बुला लिया। वह इस मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं। हम एलजी से भी मिलेंगे. एक सेशन इसका भी बुलाया जाये।
बीजेपी कोशिश कर रही थी कि सीलींग की सारी जिम्मेदारी आप पर डाल दी जाये लेकिन केजरीवाल ने सारी जिम्मेदारी उपराज्यपाल अनिल बैजल पर ही डाल दी।
इससे निश्चित ही मंगलवार को हंगामा हो सकता है। जिसमें मुख्यमंत्री केजरीवाल भाजपा अध्यभ मनोज तिवारी समेत बीजेपी के विधायतकों और सासंदो क साथ एलजी के पास जायेंगे।
Loading...
Share it
Top