Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’ के डेटा लीक मामले से भारत में भी राजनीतिक हलचल तेज

कैम्ब्रिज एनालिटिका’ के कर्मचारी रहे विसलब्लोअर क्र‍िस्टोफर विली ने खुलासा किया कि उनके पास भारत के लगभग सारे गांवों का डेटा है।

‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’ के डेटा लीक मामले से भारत में भी राजनीतिक हलचल तेज

कैम्ब्रिज एनालिटिका’ के कर्मचारी रहे विसलब्लोअर क्र‍िस्टोफर विली ने खुलासा किया है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका की पैरंट कंपनी स्ट्रेटजिक कम्युनिकेशन लेब्रोटरिज (एससीएल) के पास भारत के 600 जिलों के 7 लाख से अधिक गांवों का डेटा है और यह लगातार अपडेट हो रहा है। सीए विली का कहना है कि हमारे पास भारत के लगभग सारे गांवों का डेटा है।

ये भी पढ़ें- मोतिहारी में 20 हजार स्वच्छाग्रहियों को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

विली के अनुसार कंपनी 2003 से राजनीतिक पार्टियों के लिए भारत में जाति से जुड़े सर्वे और कैंपेन करती रही है, जो 2013 तक चला। इस दौरान लोकसभा चुनाव समेत आठ राज्यों में होने वाले चुनावों के लिए अभियान चलाए गए।

जिहाद रोकने का मिला था जिम्मा

विली के अनुसार एससीएल चुनावी सर्वे और रिसर्च के अलावा कई राज्यों में जिहाद को कम करने के लिए काम कर रही थी। 2007 में एससीएल को केरल, बंगाल, झारखंड, और उत्तरप्रदेश में में जिहाद से जुड़ी हिंसा और भर्ती को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय रिसर्च प्रोग्राम का जिम्मा दिया गया था।

इन राज्यों में किया काम

विली ने यह भी बताया कि एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए एससीएल ने 2012 में चुनाव से पहले जातिगत आधारित सर्वे का काम भी किया था। साथ ही 2007 में यूपी में बूथ लेवल पर राजनीतिक सर्वे का काम किया था। साथ ही 2009 के लोकसभा चुनाव में एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए एससीएल ने नैशनल कैंपेन करने का काम किया था।
कंपनी ने 2010 में जनता दल यूनाइटेड के लिए बिहार चुनाव के समय रिसर्च और रणनीतियां बनाने का काम किया। इसके अलावा उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड, दिल्ली छत्तीसगढ़, केरल, पं बंगाल, असम और बिहार जैसे राज्यों में वोटर को प्रभावित किया गया।

कांग्रेस के लिए हर तरह का काम

इससे पहले मंगलवार को विली ने अपने खुलासे में उन्होंने बताया कि उन्होंने भारत में रहकर काफी काम किया और उसका यहां ऑफिस भी था।
विली ने ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमन में डिजिटल, कल्चर, मीडिया और स्पोर्ट्स कमिटी के सामने यह बयान दिया। बयान देते हुए विली ने ‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’के साथ काम करने वाली पार्टियों का नाम लेते हुए भारत की कांग्रेस पार्टी का भी नाम लिया। विली के अनुसार उसे पूरा विश्वास है कि ‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’ की एक क्लाइंट कांग्रेस भी थी।

इधर 'हाथ' पर हमलावर हुई भाजपा

कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक के कारण भारत की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग जारी है। इस बीच, एक ऐसा विडियो जारी हुआ है जिससे कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
इस विडियो में कैम्ब्रिज एनालिटिका के निलंबित सीईओ अलेक्जेंडर निक्स के लंदन ऑफिस के दीवार पर कांग्रेस पार्टी का निशान 'हाथ' टंगा दिख
रहा है।
Next Story
Top