Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

साल 2017 में इन बड़े नेताओं ने दुनिया को कहा अलविदा!

शिवाजीराव गिरधर पाटिल का 92 साल की उम्र में 22 जुलाई 2017 को निधन हो गया। वे मशहूर अभिनेत्री स्मिता पाटिल के पिता भी थे। वे लंबी
बिमारी के बाद मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में एडमिट थे।वे 12 साल तक महाराष्ट्र सरकार में सकारिता मंत्री पद पर भी रहे। इसके अलावा वे एक बार राज्यसभा से सांसद भी चुने गए। साल 2013 में उन्हें पद्मभूषण पुरस्कार से सुशोभित किया गया। शिवाजीराव पाटिल उन चुनिंदा नेताओं में से थे जिन्होंने आजादी के संघर्ष में भाग लिया
था।
आजादी के बाद वे स्टेट पॉलिटिक्स से जुड़े। उन्होंने महाराष्ट्र विधान परिषद में बतौर सदस्य 1960-1967 के बीच कार्य किया। इसके बाद वे महाराष्ट्र विधानसभा में 1967 से1980 के बीच वह तीन बार एमएलए रहे। साल 1967, 1972 और 1978 इंडियन नेशनल कांग्रेस से विधायक के रूप में निर्वाचित हुए और उन्होंने कैबिनेट मंत्री के रूप में दो बार सेवा की।
वे 1992 से 1998 तक राज्यसभा के सदस्य रहे। 1996 में उन्होंने अपनी बेटी की याद में स्मिता पाटिल चैरिटेबल ट्रस्ट शुरू किया।
15. एन. धरमसिंह
एन. धरमसिंह का निधन 27 जुलाई 2017 को हुआ। वह 80 साल के थे। छह दशक से ज्यादा समय से कांग्रेस के नेता रहे सिंह, दक्षिण भारतीय
राज्य में जनता दल-सेक्युलर के साथ गठबंधन सरकार में 28 मई 2004 से तीन फरवरी 2006 तक मुख्यमंत्री रहे।
सिंह 2009 से 2014 तक बीदर लोकसभा क्षेत्र से सांसद रहे और राज्य के उत्तरी जिले कलाबुरगी के जेवारगी विधानसभा क्षेत्र से सात बार विधायक चुने
गए। 25 दिसंबर 1936 को जन्मे सिंह एक राजपूत थे। वह 1999-2004 तक सत्तारूढ़ दल की राज्य इकाई के अध्यक्ष भी रहे।
Share it
Top