Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अगर सैन्य समाधान निकालते तो POK हमारा होता : IAF चीफ

पीएम मोदी भी पीओके को भारत का अभिन्न अंग बता चुके हैं।

अगर सैन्य समाधान निकालते तो POK हमारा होता : IAF चीफ
नई दिल्ली. पीओके का माला भारत पाक की राजनीति ही नहीं अब सेना का भी हिस्सा बनता दिख रहा है। वायु सेना चीफ अरूप राहा ने गुरुवार को कहा कि भारत सरकार ने 1971 में हुए भारत-पाक युद्ध के दौरान वायु सेना की ताकत का पूरा इस्तेमाल नहीं किया। उन्होंने इशारे इशारे में एयर चीफ ने कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर को सैन्य समाधान से निकालते नाकि बातचीत के माध्यम से।
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, वायु सेना प्रमुख राहा ने कहा कि इस मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान के लिए हम संयुक्त राष्ट्र गए, लेकिन यह समस्या अभी भी बनी हुई है। कश्मीर के एक हिस्से पर पाकिस्तान का कब्जा हमारे शरीर में कांटे की तरह चुभता है। राहा ने यहां एक औद्योगिक संगठन के कार्यक्रम में बोलते हुए वायु सेना के आधुनिकीकरण में ‘मेक इन इंडिया’ की बड़ी भूमिका की तरफ भी इशारा किया।
बता दें कि एयर चीफ मार्शल राहा का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल में दिए गए इस बयान के बाद आया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। इस पर पाकिस्तान का अवैध कब्जा एक बड़ा मुद्दा है, जिसका समाधान किया जाना है। वायु सेना प्रमुख राहा ने कहा कि 1947 में कश्मीर पर कबाइलियों द्वारा किए गए हमले से निपटने में वायु सेना की परिवहन शाखा ने सैनिक एवं रसद वहां पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। सेना ने हमलावरों को रोक दिया था।
नई योजना के बारे में बताया
राहा नेपायलटों के प्रशिक्षण के संबंध में भविष्य की योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा बनाया गया बेसिक ट्रेनर एचटीटी - 40 जल्द ही वायु सेना में शामिल किया जाएगा। राहा ने कहा कि वायु सेना ‘मेक इन इंडिया’ के तहत एक लड़ाकू विमान बनाने की योजना पर विचार कर रही है, इससे घरेलू उद्योग को मजबूती मिलेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top