Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी के तुरंत बाद पीएम ने सभी राज्यों के CM को लिखी थी चिट्ठी

पीएम मोदी के ऐलान के बारे में राज्यों को बेहद नाटकीय तरीके से जानकारी दी गई।

नोटबंदी के तुरंत बाद पीएम ने सभी राज्यों के CM को लिखी थी चिट्ठी
नई दिल्ली. आठ नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के कुछ समय बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर इस कदम की वजह बता दी थी। उन्होंने राज्यों से इस फैसले में और भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष में साथ देने का अनुरोध किया था।
नोटबैन के केंद्र सरकार के फैसले पर सभी विरोधी पार्टियां सरकार का विरोध कर रही है। इस मामले में एक नई बात सामने आई है कि पीएम मोदी ने इस फैसले के कुछ समय बाद ही सभी राज्य मंत्रियों को इसकी जानकारी दी थी। चिट्ठी में प्रधानमंत्री ने राज्यों को गाइडलाइंस जारी कर बैंकों का कामकाज सही तरीके से चलाने में मदद, आरबीआई की सुरक्षा करने और शवदाह गृहों और कब्रगाहों, अस्पतालों और दूध की दुकानों पर हो रही दिक्कतों पर निगरानी रखने को कहा था।
टाइम्‍स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक पुरानी करंसी को चलन से बाहर करने के पीएम मोदी के ऐलान के बारे में राज्यों को बेहद नाटकीय तरीके से जानकारी दी गई। राज्यों की राजधानियों में मौजूद रेजिडेंट कमिश्नरों के ऑफिस को 8 नवंबर को देर रात तक खुले रखने को कहा गया, ताकि प्रधानमंत्री की तरफ से भेजी गई चिट्ठी तत्काल संबंधित मुख्यमंत्रियों को मिल सके।
पीएम की चिट्ठी में राज्यों को नए करंसी के मूवमेंट में आरबीआई और पुरानी करंसी जमा कराते वक्त बैंकों और पोस्ट ऑफिसों में पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए। इसमें मुख्यमंत्रियों को यह पक्का करने को भी कहा गया था कि सरकारी बसों, शवदाह गृहों और कब्रगाहों में 11 नवंबर की रात 500 और 1,000 के नोट चलते रहें। साथ ही, दूध की दुकानों और कंज्यूमर को ऑपरेटिव सुपर मार्केट्स में भी तब तक पुराने करेंसी नोट को स्वीकार करने की बात कही गई।
प्रधानमंत्री की चिट्ठी में कहा गया कि इस अभियान को लागू करने में राज्य सरकारों का रोल सबसे अहम है। लेटर में पीएम ने कहा, 'मैं इस मुश्किल लेकिन जरूरी उपाय को लागू करने में आपकी सरकार का सहयोग हासिल करने के अनुरोध के साथ यह चिट्ठी लिख रहा हूं। मैं आपसे वैसे सभी उपाय करने का अनुरोध करता हूं, जो लोगों की दिक्कतों को कम करने के लिए उचित हो सकते हैं।' चिट्ठी में इस कदम को भ्रष्टाचार, काला धन, नकली नोटों और आतंकवाद जैसी बुराइयों के खिलाफ संघर्ष का हिस्सा बताया गया। इसमें लिखा गया था, 'मैं जानता हूं कि आप इसका स्वागत करेंगे और इस कोशिश में मेरा आपको पूर्ण समर्थन रहेगा।'
सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इकनॉमिक अफेयर्स सेक्रटरी शक्तिकांत दास के ऑफिस से संपर्क में रहने को कहा गया। पीएम की चिट्ठी में फाइनैंस मिनिस्ट्री में बनाए गए स्पेशल कंट्रोल रूम का भी जिक्र है, जो 25 नवंबर तक सुबह 8 बजे से रात के 8 बजे तक ऑपरेशनल है। ईटी को मिली खबर के मुताबिक, सभी राज्यों के रेजिडेंट कमिश्नरों को यह पक्का करने को कहा गया था कि सीएम ऑफिस को यह रात के 11 बजे से पहले मिल जाए। कई राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों ने 8 नवंबर की रात को इस चिट्ठी के मिलने की पुष्टि भी की है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top