Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दावोस से वापस लौटे PM, 2025 तक भारत को 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व आर्थिक मंच (WEF) की सालाना बैठक में ‘ऐतिहासिक और सफल भागीदारी'' के बाद भारत वापस लौट चुके हैं।

दावोस से वापस लौटे PM, 2025 तक भारत को 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व आर्थिक मंच (WEF) की सालाना बैठक में ‘ऐतिहासिक और सफल भागीदारी' के बाद भारत वापस लौट चुके हैं। पूर्ण सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने आतंकवाद समेत दुनिया के समक्ष गंभीर चुनौतियों के बारे में बात की। इस दौरान उन्होंने दुनिया के कई नेताओं और उद्योगपतियों से मुलाकात की।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘इस साल डब्ल्यूईएफ का विषय ‘विभाजित दुनिया में साझा भविष्य का सृजन' है जो काफी विचारणीय है। यह हमें आने वाली पीढ़ी के लिये बेहतर भविष्य के सृजन के उपायों पर चर्चा के लिये प्रेरित करता है।'

यह भी पढ़ें- रांची: लालू यादव की बढ़ सकती है मुश्किलें, चाइबासा कोषागार मामले में फैसला सुनाएगी रांची कोर्ट

मोदी सम्मेलन में भाग लेने वाले पिछले दो दशकों में पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। इस दौरान उन्होंने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रुदू, नीदरलैंड की प्रधानमंत्री क्वीन मैक्जिमा और स्विटजरलैंड के राष्ट्रपति एलेन बेर्सेट से मुलाकात की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने म्यांमार की काउंसेलर आंग सान सु की के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व आर्थिक मंच की सालाना सभा को संबोधित किया और बताया कि भारत वर्ष 2025 तक पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में बढ़ रहा है। भारत को निवेश का आकर्षक स्थल बताते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग धन के साथ तंदुरुस्ती और समृद्धि के साथ शांति चाहते हैं उन्हें भारत आना चाहिए।

2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था

यहां विश्व आर्थिक मंच सम्मेलन में शरीक होने वाले मोदी दो दशक में पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। मोदी ने सम्मेलन की शुरुआत में भाषण दिया। उन्होंने संरक्षणवादी प्रवृत्तियों के प्रति चिंता जताई। मोदी ने कहा कि देश वर्ष 2025 तक पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें- यूएन सुरक्षा काउंसिल की टीम करेगी पाकिस्तान का दौरा, आतंकी हाफिज सईद ने डर कर दी सरकार को याचिका

भारत की जीडीपी 2.2 लाख करोड़

उन्होंने जोर देकर कहा कि सरकार सुधार, प्रदर्शन और परिवर्तन के सिद्धांत का पालन कर रही है। वर्तमान में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) लगभग 2.2 लाख करोड़ डॉलर है। मोदी ने कहा,‘‘ हमने भारत में निवेश, उत्पादन और काम करने को आसान बनाया है। हमने लाइसेंस और परमिट राज को जड़ से उखाड़ फेंकने का फैसला किया है। हम लालफीताशाही को लाल कालीन से बदल रहे हैं।'

Share it
Top