Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

‘द एडवांटेज असम: ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ में बोले पीएम मोदी, गरीबी का मर्ज बनेगा ''आयुष्मान भारत''

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुवाहाटी में ‘द एडवांटेज असम: ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ का उद्घाटन कर दिया है। समिट का उद्घाटन करने बाद पीएम मोगी ने कहा कि समिट का टैगलाइन हमें बड़ा संदेश देता है।

‘द एडवांटेज असम: ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’  में बोले पीएम मोदी, गरीबी का मर्ज बनेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुवाहाटी में ‘द एडवांटेज असम: ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ का उद्घाटन कर दिया है। समिट का उद्घाटन करने बाद पीएम मोगी ने कहा कि समिट का टैगलाइन हमें बड़ा संदेश देता है।

इसे भी पढ़ेंः No VIP कल्चर: दिल्ली में आम नागरिक की तरह सड़कों से गुजरा PM मोदी का काफिला

एडवांटेज असमः इंडियाज एकस्प्रेसवे टू आसियान समिट का टैगलाइन है। मोदी ने इस टैगलाइन के बारे में कहा कि यह कोई स्टेटमेंट नहीं है बल्कि एक व्यापक दृष्टिकोण है।

प्रधानमंत्री मोदी ने समिट को संबोधित करते हुए कहा कि भारत का विकास तभी हो पाएगा जब पूर्वोत्तर भारत संतुलित रूप में तेजी से विकास करेगा। पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए कहा कि यह विश्व का सबसे बड़ा कार्यक्रम है। यह गरीबों और गरीबी के दुखों से गुजर रहे लोगों के लिए यह योजना एक बेहतर इलाज साबित होगी।

पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वोत्तर में असम में सबसे आसानी से बिजनेस किया जा सकता है। राज्य सरकार के लीडरशिप में असम और बेहतर होगा, इसकी वर्तमान स्थित निवेश के बाद इससे कई गुना ज्यादा बेहतर होगी।

सूक्ष्म, लघु और उद्योगों को बढ़ावा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता सूक्ष्म, लघु और उद्योगों को बढ़ावा देना है। इस साल बजट में हमने सूक्ष्म, लघु और उद्योगों को बड़ी राहत दी है। हमने 250 करोड़ रुपए के टर्नओवर वाली कंपनी को 25 प्रतिशत का टैक्स देने की बात कही है।

किसानों को होगा फायदा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम लोग 1300 करोड़ रुपए का 'नेशनल बम्बू मिशन' का निर्माण कर रहे हैं। यह पूर्वोत्तर के लोगों के लिए लाभदायक होगा, इस मिशन से मुख्य रूप से पूर्वोत्तर के किसानों को फायदा होगा।

भूटान के पीएम ने भी लिया हिस्सा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे भी मंच पर बैठे थे। यह समिट दो दिन चलेगा। समिट का आयोजन असम सरकार और केंद्र सरकार के फिक्की के नेतृत्व में किया जा रहा है।

Share it
Top