Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शी जिनपिंग से बोले पीएम मोदी- 2019 में ऐसी ही कोई समिट भारत में हो तो मुझे काफी खुशी होगी

पीएम ने आगे कहा कि भारतियों के लिए गर्व की बात है और मैं भारत का पहला ऐसा प्रधानमंत्री हूं जिसकी अगवानी के लिए आप (शी जिनपिंग) दो-दो बार राजधानी से बाहर आए। यह भारत के प्रति आपका प्यार और सम्मान दर्शाता है। मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में ऐसी अनौपचारिक वार्ताएं परंपरा का हिस्सा बन जाएंगी। अगर 2019 में ऐसी ही कोई समिट भारत में हो तो मुझे काफी खुशी होगी।

शी जिनपिंग से बोले पीएम मोदी- 2019 में ऐसी ही कोई समिट भारत में हो तो मुझे काफी खुशी होगी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मध्य चीन के वुहान नगर में अनौपचारिक शिखर बैठक शुरू की। इस बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के टाइम में जो आपका वक्तव्य था उसमें आपने 'न्यू इरा' की बात की और आज मैं भारत में 'न्यू इंडिया' की बात करता हूं। आपके 'न्यू इरा' का सपना और हमारा 'न्यू इंडिया' का प्रयास विश्व के लाभ के लिए सही दिशा में कदम है।

पीएम ने आगे कहा कि भारतियों के लिए गर्व की बात है और मैं भारत का पहला ऐसा प्रधानमंत्री हूं जिसकी अगवानी के लिए आप (शी जिनपिंग) दो-दो बार राजधानी से बाहर आए। यह भारत के प्रति आपका प्यार और सम्मान दर्शाता है। मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में ऐसी अनौपचारिक वार्ताएं परंपरा का हिस्सा बन जाएंगी। अगर 2019 में ऐसी ही कोई समिट भारत में हो तो मुझे काफी खुशी होगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सदियों पुराने चीन- भारत संबंधों की प्रशंसा करते हुए चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से कहा कि दोनों देशों के पास अपने लोगों और विश्व की भलाई के लिए एक साथ मिलकर काम करने का एक बड़ा अवसर है।

मोदी ने कहा कि दुनिया की 40 प्रतिशत आबादी के लिए काम करने की जिम्मेदारी भारत और चीन के ऊपर है और दोनों देशों के पास अपने लोगों और विश्व की भलाई के लिए एक साथ मिलकर काम करने का एक बड़ा मौका है।

पिछले वर्ष 73 दिनों तक चले डोकलाम गतिरोध के बाद भारत और चीन अपने संबंधों को सुधारने और फिर से विश्वास बहाली के लिए प्रयास कर रहे है। मोदी ने याद किया कि इतिहास के 2000 वर्षों के दौरान, भारत और चीन ने एक साथ मिलकर विश्व अर्थव्यवस्था को गति और ताकत प्रदान की थी और लगभग 1600 वर्षों तक इस पर दबदबा कायम रखा था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों ने 1600 वर्षों के लिए एक साथ विश्व अर्थव्यवस्था का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा बनाया और बाकी दुनिया द्वारा 50 प्रतिशत साझा किया गया।

मोदी ने कहा कि भारत के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि राष्ट्रपति शी ने राजधानी से बाहर आकर दो बार उनकी अगवानी की। प्रधानमंत्री ने कहा कि शायद मैं पहला ऐसा भारतीय प्रधानमंत्री हूं, जिसकी अगवानी के लिए आप दो बार राजधानी (बीजिंग) से बाहर आए।

इनपुट भाषा

Next Story
Top