logo
Breaking

पीएम मोदी की बड़ी पहल, 10 रुपए में होगा कैंसर का इलाज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को झज्जर में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का शुभारंभ किया। यहां फीस महज 10 रुपए है। हालांकि यह ओपीडी शुल्क है। बता दें कि पिछले माह ही इस संस्थान में ओपीडी सेवा शुरू की गई थी।

पीएम मोदी की बड़ी पहल, 10 रुपए में होगा कैंसर का इलाज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को झज्जर में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का शुभारंभ किया। यहां फीस महज 10 रुपए है। हालांकि यह ओपीडी शुल्क है। बता दें कि पिछले माह ही इस संस्थान में ओपीडी सेवा शुरू की गई थी। फिलहाल एम्स से यहां मरीज रेफर किए जा रहे हैं। यहां देश के सबसे बड़े कैंसर संस्थान में प्रोटोन थैरेपी की भी व्यवस्था की गई है। यह ऐसी थैरेपी है जिसमें प्रोटोन बीम से मरीजों के कैंसर के ट्यूमर को नष्ट कर दिया जाता है।

इसके लिए एम्स ने अत्याधुनिक मशीन का ऑर्डर भी दे दिया है। निजी अस्पतालों में इस मशीन से इलाज का खर्च 20 से 25 लाख रुपये तक जाता है। फिलहाल राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में 50 बेड की सुविधा शुरू की जा चुकी है। इस साल के अंत तक यहां 400 बेडों की सुविधा शुरू कर दी जाएगी। फिलहाल संस्थान की ओपीडी में 80 से 100 मरीजों को देखा जा रहा है।

राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के निदेशक डॉक्टर जीके रथ ने बताया कि दिल्ली के एम्स से भी यहां मरीज लाए जा रहे हैं। साल 2020 तक 500 बेड की सुविधा शुरू करने का लक्ष्य है। यहां मार्च से ऑपरेशन थियेटर और रेडियोथेरेपी की सुविधा भी शुरू हो जाएगी। प्रधानमंत्री यहां ‘स्वच्छ शक्ति 2109' कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे। प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए झज्जर जिले में 2,035 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (एनआईसी) का शुभारंभ किया।

ये सुविधाएं भी मिलेंगी राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (एनसीआई) कैंसर के इलाज और अनुसंधान का उत्कृष्ट संस्थान है। एम्स झज्जर परिसर में इसका निर्माण किया गया है। यह 700 बिस्तरों वाला अस्पताल है, जिसमें सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, एनेस्थेसिया, पेलिएटिव केयर और न्यूक्लियर मेडिसिन जैसी विभिन्न सुविधाएं मिलेंगी।

इसके अलावा डॉक्टरों और कैंसर मरीजों के तीमारदारों के लिए हॉस्टल की व्यवस्था भी है। इस दौरान मोदी ने फरीदाबाद के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का भी उद्घाटन किया।

उत्तर भारत का पहला संस्थान

यह उत्तर भारत में पहला ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल है। इस अस्पताल में 510 बिस्तर हैं। मोदी ने पंचकूला के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान का भी शिलान्यास किया। राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान की स्थापना पंचकूला में श्री माता मनसा देवी मंदिर परिसर में की जा रही है। यह आयुर्वेदिक उपचार, शिक्षा और अनुसंधान का राष्ट्रीय स्तर का संस्थान होगा।

इन अन्य परियोजनाओं का शिलान्यास

प्रधानमंत्री ने कुरुक्षेत्र में श्रीकृष्ण आयुष विश्वविद्यालय का भी शिलान्यास किया। श्रीकृष्ण आयुष विश्वविद्यालय हरियाणा में भारतीय चिकित्सा पद्धति से संबंधित पहला विश्वविद्यालय और भारत में अपनी तरह का पहला विश्वविद्यालय है।

प्रधानमंत्री मोदी ने पानीपत में ‘पानीपत युद्ध संग्रहालय' का भी शिलान्यास किया। यह संग्रहालय पानीपत के विभिन्न युद्धों के नायकों का सम्मान करने के लिए बनाया जा रहा है। मोदी ने करनाल में पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय का भी शिलान्यास किया।

Share it
Top