Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शिक्षक दिवसः बिना बिजली के कैसे पूरा होगा सपना, पीएम मोदी ने दिए बच्चों के जबाव

पीएम ने कहा कि डिजीटल इंडिया से हम अछूते नहीं रह सकते। सामान्य नागरिक को उसका हक उसकी हथेली पर पहुंचाना है।

शिक्षक दिवसः बिना बिजली के कैसे पूरा होगा सपना, पीएम मोदी ने दिए बच्चों के जबाव
X

नई दिल्ली. पीएम का डिजीटल इंडिया अनोखा कार्यक्रम है लेकिन भारत में भी कई जगहों पर बिजली नहीं है तो यह कैसे संभव होगा? यह प्रश्न यहां शुक्रवार को शिक्षक दिवस के पूर्व आयोजित बच्चों से संवाद कार्यक्रम में देहरादून के केंद्रीय विद्यालय में दसवीं कक्षा के छात्र सार्थक भारद्वाज ने पीएम नरेंद्र मोदी से पूछा जिसके जवाब में उन्होंने कहा बात सही है। इसका जिक्र मैंने बीते 15 अगस्त को दिए अपने भाषण में भी किया था। मैंने कहा था कि देश में 18 हजार गांव ऐसे हैं जहां बिजली नहीं है। इसके लिए मैंने अपने अधिकारियों के साथ तीन बैठकें की हैं और एक हजार दिन में इन गांवों में बिजली पहुंचाने को कहा है।

पीएम ने कहा कि डिजीटल इंडिया से हम अछूते नहीं रह सकते। सामान्य नागरिक को उसका हक उसकी हथेली पर पहुंचाना है। यह सामान्य नागरिक को सशक्त बनाने का मिशन है। हम चाहते हैं कि घरों में चौबीसों घंटे बिजली होनी चाहिए। हमारी योजना है कि जब देश वर्ष 2022 में आजादी का 75वां जश्न मनाएगा तो आप जो चाहते हैं वो हो जाएगा।गोवा के दिशा स्कूल फॉर स्पेशल चिल्ड्रन की छात्रा सोनिया येल्लपा पाटिल ने पीएम से पूछा कि आपको कौन सा खेल पसंद है। इसके जवाब में पीएम ने कहा कि राजनीति वाले क्या खेल खेलते हैं सब को मालूम है। वैसे बच्चपन में मुझे कबड्डी, खो-खो और तैरना अच्छा लगता था। इसके बाद मैं योगा से भी जुड़ा फिर वो भी मेरी हॉबी हो गई।
पटना डीपीएस के 12वीं कक्षा के छात्र अनमोल काबरा ने पीएम से प्रश्न पूछा कि कई छात्र बड़ा बलिदान करके इंजीनियर बनने की कोशिश करते हैं। परीक्षा देते हैं, कड़ी मेहनत करते हैं उनके लिए आप कहना चाहेंगे। इसके जवाब में पीएम ने कहा कि तुम भी तो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं तुम्हें भी किसी ने कहा होगा। माता-पिता का यह स्वभाव होता है कि जो काम वो खुद नहीं कर पाते अपने बच्चे से करवाना चाहते हैं। स्कूल में हम सभी को करेक्टर सर्टिफिकेट मिलता है। ये जेल में जो कैदी होता है उसे भी मिलता है और आम इंसान को भी मिलता है। इसमें हम एक छोटा सा बदलाव लाकर हम एप्टीट्यूड सर्टिफिकेट देना चाहते हैं। 10 बच्चों ने पीएम से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए और 5 बच्चों ने ऑडिटोरियम में पीएम से प्रत्यक्ष सवाल पूछे।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story