Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राज्यसभा में बोले मोदी, कांग्रेस मुक्त भारत मेरा नहीं गांधी जी का विचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि यदि वह कांग्रेस-मुक्त भारत की बात करते हैं तो इसके पीछे गांधीजी की उस बात की ही प्रेरणा है।

राज्यसभा में बोले मोदी, कांग्रेस मुक्त भारत मेरा नहीं गांधी जी का विचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि यदि वह कांग्रेस-मुक्त भारत की बात करते हैं तो इसके पीछे गांधीजी की उस बात की ही प्रेरणा है। यानी कांग्रेस मुक्त भारत हमारा नहीं, गांधी जी का विचार था।

इधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा- मोदी जी सदन में एक घंटे से ज्यादा वक्त तक बोले। राफेल डील, किसान और युवाओं को रोजगार के मुद्दे पर एक शब्द भी नहीं कहा। यही हमारे तीन सवाल हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर सत्ता में रहने के दौरान एक परिवार के गीत गाने में समय खपाने का आरोप लगाया जिसके कारण देश का विकास प्रभावित हुआ। उन्होंने एनपीए को पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के पाप का नतीजा करार दिया।

यह भी पढ़ें- मोदी के ‘56 इंच के सीना' का दिखा दम, भारत बना तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था: भाजपा

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार पर एनपीए के आंकड़े छिपाने और रोजगार, किसानों के मुद्दों पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए अपने 90 मिनट के संबोधन में मोदी ने आरोप लगाया।

विपक्ष उनकी सरकार के बारे में मध्यम वर्ग समेत आम लोगों को गुमराह करने और निराशा का भाव पैदा करने का प्रयास कर रहा है। प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान कांग्रेस सदस्य आंध्रप्रदेश पुनर्गठन अधिनियम को पूरी तरह से लागू करने की मांग करते हुए अध्यक्ष के आसन के समीप नारेबाजी कर रहे थे।

वामदलों के सदस्य भी अपनी मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे थे। कांग्रेस, वामदलो की नारेबाजी से प्रभावित हुए बिना प्रधानमंत्री ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा कि चुनाव की हड़बड़ी में और आंध्र प्रदेश के लोगों की भावना का आदर किए बिना कांग्रेस की तत्कालीन केंद्र सरकार ने राज्य का बंटवारा किया जिसके कारण वहां समस्या बनी हुई है। ये बीज कांग्रेस के बोये हुए हैं।

यह भी पढ़ें- लोकसभा में मोदी का भाषण: बशीर बद्र के शेर के जरिए कांग्रेस पर कसा तंज

नेहरू-गांधी परिवार पर तीखा प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश के टुकड़े करने का काम किया और कांग्रेस के लोगों ने पूरा समय एक ही परिवार के गीत गाने में लगा दिया जिसके कारण देश की जनता ने उन्हें विपक्ष में बैठा दिया।

मोदी ने कहा कि सिर्फ विरोध की खातिर विरोध करना कितना उचित है। मेरी आवाज दबाने की इतनी कोशिश नाकाम रहेगी। सुनने के लिये हिम्मत चाहिए। उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार की सोच देश के विकास की प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ने की है जबकि कांग्रेस की सोच छोटी है।

याद आए वाजपेयी

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एक कविता को उद्धृत किया। उन्होंने कहा कि छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता। उन्होंने कहा, आपने देश को स्वीकार नहीं किया। सब आपने, आपके परिवार ने किया, यही आपकी सोच है। इसलिए आज विपक्ष में हैं।

जुमलेबाजी का जवाब

जुमलेबाजी करने के विपक्ष के आरोपों के परोक्ष संदर्भ में मोदी ने कहा कि कांग्रेस के एक प्रधानमंत्री ने 80 के दशक में 21वीं सदी आने की बात कही, बार-बार कही। कांग्रेस जब 80 के दशक में 21वीं सदी की बात कहे तो कोई बात नहीं लेकिन हम आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर किसानों की आय दोगुनी करने की बात कहें, तो उन्हें दर्द होता है।

गिनाईं उपलब्धियां

पीएम मोदी ने कहा, मैं गर्व से कह सकता हूं कि देश में सबसे लंबी सुरंग हमने पूरी की। सबसे लंबी गैस पाइपलाइन हम लाए। समुद्र में सबसे लंबा पुल बनाया, सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन लाने का काम किया। यह सब कार्य हम समयसीमा में कर रहे हैं।

भ्रष्टाचार पर चेतावनी

मोदी ने कहा, भ्रष्टाचार और कालेधन के मामले में कोई भी बचने वाला नहीं है। पहली बार पूरे देश में चार-चार पूर्व मुख्यमंत्रियों को न्यायपालिका ने दोषी करार दिया है। वे जेल में रहेंगे। कोई नहीं बचेगा। मैं इस काम में पीछे रहने वाला नहीं हूं। मैं लड़ने वाला आदमी हूं।

स्वच्छता अभियान

प्रधानमंत्री ने कहा, मेरा स्वच्छता अभियान केवल चौराहों तक नहीं है। आचार, विचार में भी है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, हिट एंड रन वाली राजनीति चल रही है। कीचड़ फेंको और भाग जाओ। जितना कीचड़ उछाल लो, कमल उतना ही खिलेगा।

अभिभाषण को मंजूरी

प्रधानमंत्री के जवाब के बाद सदन ने विपक्ष के संशोधनों को अस्वीकार करते हुए ध्वनिमत से राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री के जवाब के बाद कांग्रेस, तृणमूल और वामदलों ने सदन से वाकआउट किया।

सोनिया बोली, कुछ भी नया नहीं

कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसमें कुछ भी नया नहीं है। उन्होंने कहा, वह पुरानी बातों को दोहरा रहे हैं। लोग अपनी नौकरी को लेकर इच्छुक हैं। वे अपने भविष्य के बारे में जानना चाहते हैं।

राहुल का तंज, विपक्ष के नेता के तौर पर बोले मोदी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी के भाषण पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए संवाददाताओं से कहा कि वह प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं विपक्ष के नेता के तौर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा, हम प्रधानमंत्रीजी से प्रधानमंत्री का भाषण सुनना चाहते थे।

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्रीजी एक घंटे से अधिक बोले लेकिन राफेल सौदे पर एक भी शब्द नहीं कहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का भाषण राजनीतिक एवं प्रचार भाषण था। लेकिन देश के सामने जो मुद्दे हैं, रोजगार का मुद्दा उसके बारे में प्रधानमंत्री ने कुछ नहीं कहा। बंगाल की बात कर रहे है, कर्नाटक की बात कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- सीरिया: दमिश्क के पास जबरदस्त बम धमाका, 7 की मौत, पिछले 24 घंटों में 90 लोगों की मौत

राहुल ने कहा, नरेन्द्र मोदी ने दो करोड़ रोजगार देने की बात कही थी। 24 घंटे में 450 युवाओं को रोजगार मिलता हे। इसके बारे में नरेन्द्र मोदीजी ने कुछ नहीं बोला।

उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज को सही दाम दिलाने की बात और उनका कर्ज माफ करने की बात करने के बजाय प्रधानमंत्री मधुमक्खी पालन और बांस की बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री ने इसके बारे में कुछ नहीं बोला।

राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री अपने हर भाषण में केवल कांग्रेस, कांग्रेस के नेताओं तथा स्वयं मोदी अपने बारे में बात करते हैं।

Next Story
Top