Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

म्यांमार का उज्ज्वल भविष्य हमारी आकांक्षा: प्रधानमंत्री

भारत ने अपने इस पड़ोसी देश के सफर के हर कदम पर तहेदिल से उसका समर्थन करने का वादा किया।

म्यांमार का उज्ज्वल भविष्य हमारी आकांक्षा: प्रधानमंत्री
नई दिल्ली. म्यांमार के प्रति भारत के सर्मथन का फिर से भरोसा दिलाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत इस रिश्ते को नई ऊंचाइयों तक ले जाना चाहता है। म्यांमार का उज्ज्वल भविष्य सिर्फ हमारा लक्ष्य नहीं है। यह हमारी आकांक्षा भी है। दोनों देश दालों के व्यापार में एक दीर्घकालिक और आपस में लाभदायक व्यवस्था की दिशा में काम करने पर भी सहमत हुए।

भारत को दक्षिण-पूर्व एशिया से जोड़ने वाला एक पुल करार देते हुए मोदी ने कहा कि, आज हमारी चर्चा ने हमें हमारे सहयोग के लिए एक खाका और एक कार्य एजेंडा विकसित करने के लायक बनाया है।

दशकों के सैन्य शासन के बाद म्यांमार के एक नई राह पर कदम बढ़ाने के बीच भारत ने अपने इस पड़ोसी देश के सफर के हर कदम पर तहेदिल से उसका समर्थन करने का वादा किया। दोनों देशों ने अपने संबंधों को गहरा बनाने और क्षेत्र में आतंकवादी एवं उग्रवादी गतिविधियों से मुकाबले में सक्रिय रूप से सहयोग करने का इरादा जाहिर किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने आंग सान सू ची की पार्टी नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (एनएलडी) की नई सरकार से किए जा रहे पहले शीर्ष-स्तरीय संवाद के दौरान म्यांमार के राष्ट्रपति यू तिन क्यॉव से गहन वार्ता की और म्यांमार की आंतरिक शांति प्रक्रिया के प्रति भारत का पूरा सर्मथन जाहिर किया। दोनों देशों ने संपर्क, औषधि एवं अक्षय ऊर्जा के अलावा कृषि, बैंकिंग और बिजली सहित कई अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए चार सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर किए।

मीडिया के लिए जारी बयान को पढ़ते हुए मोदी ने कहा कि दोनों पक्षों ने माना है कि एक-दूसरे के सुरक्षा हित करीबी तौर पर जुड़े हुए हैं और दोनों देश क्षेत्र में आतंकवादी एवं उग्रवादी गतिविधियों से मुकाबले के लिए मिलकर काम करने पर सहमत हुए। तिन क्यॉव की मौजूदगी में मोदी ने कहा कि, हमने माना कि हमारे सुरक्षा हित करीबी तौर पर जुड़े हुए हैं, और हम एक-दूसरे के सामरिक हितों एवं चिंताओं के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत पर सहमत हुए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बाबत राष्ट्रपति और मैं हमारे लोगों की संरक्षा एवं सुरक्षा के लिए मिलकर काम करने पर सहमत हुए। अपने क्षेत्र में आतंकवाद एवं उग्रवादी गतिविधियों की साझा चुनौतियों से मुकाबले में हम सक्रिय सहयोग करेंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top