Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डीजीपी- आईजीपी सम्मेलन/ मोदी ने सुरक्षा, पुलिसिंग के मुद्दे पर अफसरों से की चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को गुजरात के केवड़िया में पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों के वार्षिक सम्मेलन में प्रमुख पुलिस अधिकारियों के साथ सुरक्षा और पुलिसिंग के मुद्दों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री ने शाम को ट्वीट किया कि उनका दिन बेहद ‘‘सार्थक रहा''''।

डीजीपी- आईजीपी सम्मेलन/ मोदी ने सुरक्षा, पुलिसिंग के मुद्दे पर अफसरों से की चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को गुजरात के केवड़िया में पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों के वार्षिक सम्मेलन में प्रमुख पुलिस अधिकारियों के साथ सुरक्षा और पुलिसिंग के मुद्दों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री ने शाम को ट्वीट किया कि उनका दिन बेहद ‘‘सार्थक रहा'। मोदी ने कहा, ‘‘केवड़िया में डीजीपी/आईजीपी सम्मेलन में यह एक सार्थक दिन रहा।'

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘हमनें राष्ट्रीय सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से प्रस्तुतिकरण देखा।' प्रधानमंत्री कार्यालय के एक बयान के मुताबिक, ‘‘इससे पहले दिन में केवड़िया में बनाए गए तंबुओं के शहर में सुरक्षा से जुड़े विभिन्न विषयों पर प्रस्तुति और चर्चाएं हुईं। खाने पर प्रधानमंत्री ने अधिकारियों के चुनिंदा समूहों से सुरक्षा और पुलिसिंग से जुड़े विशिष्ट मुद्दों पर चर्चा की।' यह चर्चा शनिवार को भी जारी रहेगी।
सम्मेलन में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय पुलिस स्मारक पर एक स्मारक डाक डिकट जारी करेंगे और साइबर समन्वय केंद्र का पोर्टल भी शुरू करेंगे। बयान में कहा गया कि वह खुफिया ब्यूरो के अधिकारियों को विशिष्ट सेवा के लिये राष्ट्रपति का पुलिस पदक प्रदान करेंगे और उपस्थित लोगों को संबोधित भी करेंगे।
इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार की सुबह वडोदरा हवाई अड्डा पहुंचे जहां गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने उनका स्वागत किया। हवाई अड्डे से मोदी नर्मदा जिले के पास केवड़िया गांव स्थित ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' गए। डीजीपी और आईजीपी का वार्षिक सम्मेलन यहीं हो रहा है।
सम्मेलन स्थल तंबुओं का शहर है जो 182 मीटर ऊंची ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' के पास बसाया गया है। यह विशाल प्रतिमा देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को समर्पित है। सम्मेलन में जाने से पहले मोदी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी गए और सरदार पटेल को पुष्पांजलि अर्पित की। दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा का अनावरण 31 अक्टूबर को किया गया।
Share it
Top