Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी, राष्ट्रमंडल देशों के अन्य प्रमुख भी हुए शामिल

विंडसर कैसल में कॉमनवेल्थ प्रमुखों की सरकारी बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रमंडल देशों के अन्य प्रमुख पहुंचे हैं

कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी, राष्ट्रमंडल देशों के अन्य प्रमुख भी हुए शामिल

विंडसर कैसल में कॉमनवेल्थ प्रमुखों की सरकारी बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रमंडल देशों के अन्य प्रमुख पहुंचे हैं। जिनमें ब्रिटश प्रधानमंत्री टेरीजा मे, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी शामिल हुए हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्मेंट(चोगम) बैठक में शामिल होने के लिए ब्रिटेन के चार दिवसीय दौरे पर हैं। इससे पहले एक कार्यक्रम में उन्होने पाकिस्तान पर जमकर वार किए थे।

पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत उन लोगों को बर्दाश्त नहीं करेगा जो आतंकवाद का आयात करते हैं। 2016 की एलओसी के पार सर्जिकल स्ट्राइक का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि भारत उन्हें कड़ा जवाब देगा। मोदी ने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक पर कहा कि भारत को पता है कि उन लोगों को सबक कैसे सिखाना है जो आतंकवाद का आयात करते हैं और भारतीयों की हत्या करते हैं।

ये भी पढ़ें- सूरत रेप केस: दोषियों तक पहुंचने की तैयारी कर रही क्राइम ब्रांच, रिश्तेदार तक पहुंची शक की सुई

उन्होंने कहा- 'आतंक के आयात की फैक्ट्री खोल रखी है। और हमारी पीठ पर वार करने की फिराक में रहते हैं। लेकिन मोदी को पता है कि ऐसे लोगों को उन्हीं की भाषा में कैसे जवाब देना है।'

सर्जिकल स्ट्राइक पर पूछे सवाल के जवाब में मोदी ने कहा- 'जिन लोगों को आतंक का आयात पसंद है, मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि भारत बदल गया है और उनकी हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हम शांति में विश्वास रखते हैं। आतंकवाद को कभी स्वीकार नहीं करेंगे।'

ये भी पढ़ें- CJI दीपक मिश्रा पर महाभियोग को लेकर कांग्रेस समेत 7 दलों के 60 सांसदों ने किए समर्थन पत्र पर किए हस्ताक्षर

पीएम मोदी ने कहा कि मैं 'सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय' के रास्ते पर चलता हूं, इसलिए मुझे कभी निराशा नहीं होती है। अगर नीति स्पष्ट हो, इरादे नेक हो और सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय पर काम हो तो निराशा नहीं होती। हम लोगों को देश को अपना समझकर काम करने की जरूरत है। विकास भी एक जन आंदोलन बनना चाहिए।

Next Story
Top