Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब दिल्ली से नेपाल तक बिछेगी पेट्रोलियम पाइपलाइन, नेपाल के प्रधानमंत्री और पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने पीएम मोदी के साथ मिलकर संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी और केपी ओली ने साथ मिलकर नेपाल पेट्रोलियम प्रोडक्ट पाइपलाइन का उद्घाटन भी किया। पीएम ओली ने कहा नेपाल कभी भी भारत के खिलाफ किसी भी देश के साथ शामिल नहीं होगा।

अब दिल्ली से नेपाल तक बिछेगी पेट्रोलियम पाइपलाइन, नेपाल के प्रधानमंत्री और पीएम मोदी ने किया उद्घाटन
X

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर आज भारत यात्रा पर आए हुए है। भारत दौरे पर आए नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने पीएम मोदी के साथ मिलकर संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

इस दौरान पीएम मोदी और केपी ओली ने साथ मिलकर नेपाल पेट्रोलियम प्रोडक्ट पाइपलाइन का उद्घाटन भी किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नेपाल के विकास में भारत के सहयोग का इतिहास बहुत पुराना है।

जिसे लेकर मैंने नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली को आश्वासन दिया है कि यह सहयोग भविष्य में बदस्तूर जारी रहेगा। पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमारा लक्ष्य नेपाल के साथ जल व रेल यातायात को बढ़ाने पर है। जिसे लेकर हमने इनसे जुड़े बहुत से प्रोजेक्टस की प्रगति पर गंभीर विचार किया है।

ये भी पढ़ेःअयोध्या विवादः राम मंदिर निर्माण को लेकर बीेजेपी विधायक गोरखनाथ बाबा ने कहा- बच्चा-बच्चा बहाएगा खून

पीएम मोदी ने दोनों देशों की सुरक्षा संबंधों पर कहा कि सुरक्षा के लिहाज से दोनों देशों के संबंध काफी मजबूत है और दोनो देशों के बीच खुले बार्डर के द्ररुपयोग को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जानकारी दी कि दोनों ही देशों ने भारत और काठमांडू के बीच रेलवे लाईन बिछाने को लेकर सहमति जताई है।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने कहा कि नेपाल भारत के लिहाज से काफी महत्तवपूर्ण स्थान रखता है। लेकिन चीन के बेल्ट ऐंड रोड प्रॉजेक्ट में उसकी भागीदारी अपने राष्ट्रहित को लेकर एक सोची-समझी रणनीति के तहत है।

नेपाल पीएम ने कहा कि दोनों देशों के बीच दशकों पुराने ऐतिहासिक संबंध रहे है, जिसमें एक-दूसरे को देने के लिए देने के लिए काफी कुछ है। नेपाल पीएम ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नेपाल आना का निमंत्रण दिया है। और मैं इस बात को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हूं कि पीएम मोदी जल्द ही नेपाल दौरे पर आएंगे।

हमारे संबंध सिर्फ राजनीतिक ही नहीं बल्कि आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक भी हैं। हमारा दो-तिहाई विदेशी व्यापार भारत के साथ है। हमारी एफडीआई लिस्ट (विदेशी प्रत्यक्ष निवेश) में भारत शीर्ष स्थान पर है और उसी तरह भारतीय टूरिस्टों में नेपाल लोकप्रिय है।

ये भी पढ़ेःहाफिज सईद ने MML को बैन करने पर अमेरिका की उड़ाई खिल्ली, कहा- बैन ने साबित कर दी विश्‍वसनीयता

भारत हमारे प्रमुख विकास भागीदारों में से एक है। क्रॉस-बॉर्डर कनेक्टिविटी का विस्तार हो रहा है और लोगों, सामान और सेवाओं की आसान गतिविधि के लिए हम इसे आगे और विकसित करने की सोच रहे हैं।

द्विपक्षीय व्यापार में तेजी से वृद्धि हुई है, लेकिन भारत के साथ नेपाल का व्यापार घाटा (ट्रेड डेफिसिट) एक खतरनाक दर से बढ़ रहा है। यह स्थायी नहीं है। हमें मौजूदा व्यापार संधि की पूरी तरह से समीक्षा करने के लिए संरचनात्मक बाधाओं का तोड़ ढूंढना होगा, जो भारत को नेपाल के निर्यात में बाधा पहुंचाती हैं। हमें टैरिफ और नॉन-टैरिफ उपायों पर काम करने की जरूरत है। साथ ही कृषि और औद्योगिक उत्पादों जैसे प्रॉडक्ट्स पर भी काम करने की जरूरत है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story