Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मप्र के सांसदों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी, सुषमा की जमकर की तारीफ

मध्य प्रदेश के सांसदों ने फसल बीमा और मुद्रा बैंक में आ रही दिक्कतों को लेकर पीएम मोदी को बताया।

मप्र के सांसदों से नाश्ते पर मिले पीएम मोदी, सुषमा की जमकर की तारीफ

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के काम के कायल खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी है। आमतौर पर अपनी किसी भी मंत्री की तारीफ में कंजूसी बरतने वाले मोदी ने सांसदों के तौर पर सुषमा स्वराज की तारीफ मध्यप्रदेश के अन्य सांसदों के बीच की।

और तो ओर आगे बढकर सांसदों को स्वराज से सीख लेकर उन्हीं की तरह काम करने की हिदायत भी दे डाली। शुक्रवार को सुबह प्रधानमंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश के लोकसभा व राज्ससभा के सांसदों को अपने निवास सात लोककल्याण मार्ग पर नाश्ते पर बुलाया था।

इसे भी पढ़ें: आकाश मिसाइल टेस्ट में फेल होने से 3600 करोड़ का नुकसान: कैग

इस दौरान सांसदों के कामों की सामूहीक समीक्षा भी हुई। सभी को आगे के लक्ष्य दिए गए। साथ ही उदारहण देकर समझा दिया गया कि सांसदों को किस तरह काम करना चाहिए। वह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से सीखे। दरअसल स्वराज मध्यप्रदेश के विदिशा से सांसद है।

बैठक में पीएम ने सांसदों से चर्चा में कहा कि ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र में रहे। वहां की छोटी और बडी समस्याओं को सदन में उठाए। जमीनी स्तर पर लोगों और कार्यकर्ता से जुडे रहे।

केंद्र सरकार की तीन वर्ष की उपलब्धि को जनता तक पहुंचाए। इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही पीएम आवास योजना,उज्जवला योजना,स्वच्छता अभियान सभी के बारें में जनता को अवगत करवाए।

जरूरमंद लोगों को इसका लाभ दिलवाए। सांसदों से संवाद के करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सांसदों की कमी से कई बार कोरम तक पूरा नहीं होता है। कोई भी बिल पास करवाना सरकार का काम है।

सत्ता में बैठी पार्टी के सांसदों का दायित्व है कि वह अपने इस काम को पूरा करें। इसी के साथ पीएम मोदी ने साफ कर दिया कि सांसदों की अनुपस्थिति बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पीएम मोदी ने दोनों सदनों के सांसदों को चेताया और कहा कि लंच के बाद सदन में गैरहाजिर न हों। कहा जाता है कि कई सांसद संसद में भोजनावकाश के बाद अपने अपने काम से निकल जाते हैं।

पीएम मोदी ने ऐसे सांसदों को चेतावनी दी है। पीएम ने कहा सांसदों की गैरहाजिरी से कई महत्वपूर्ण बिलों को पास कराने में देरी होती है। सांसदों को अपने रवैये में बदलाव लाना चाहिए ताकि कई काम समय पर हो सके।

बैठक में मप्र से सांसदों ने मुद्रा बैंक और फसल बीमा में आ रही परेशानी के बारें में भी पीएम को अवगत करवाया।पीएम आवास में हुई बैठक में केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज,थावरचंद गेहलोत,नरेंद्र सिंह तोमर,प्रकाश जावडेकर,फग्गनसिंह कुलस्ते।

एमजे अकबर सहित मप्र के दमोह, भोपाल, सतना, रीवा, राजगढ, उज्जैन, मुरैना, भिंड, सागर, सीधी, जबलपुर, होशंगाबाद, देवास, मंदसौर, धार, खरगोन और बैतुल संसदीय क्षेत्र के सांसद मौजूद थे। इसके अलावा राज्यसभा के सांसद मौजूद थे।

Next Story
hari bhoomi
Share it
Top