Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NASSCOM के समारोह में पीएम मोदी ने टेक गुरुओं को दिए गुरूमंत्र

पीएम ने समारोह में शामिल लोगों से पूछा, ''क्या आपके दिल में यह सवाल नहीं उठता कि गूगल हमारे देश में हो?''

NASSCOM के समारोह में पीएम मोदी ने टेक गुरुओं को दिए गुरूमंत्र
नई दिल्ली. टेक्नॉलजी को लेकर आने वाले सालों में दुनिया और देश की क्या जरूरतें होंगी, रविवार को इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपना व्यापक नजरिया सामने रखा। प्रधानमंत्री ने नैस्कॉम के 25 साल पूरे होने के मौके पर बोलते हुए आने वाले दिनों में शिक्षा, सुरक्षा, शासन, भ्रष्टाचार पर वार से लेकर टूरिजम तक के विकास में टेक्नॉलजी की भूमिका पर विस्तार से चर्चा की। इस मौके पर मोदी ने टेक गुरुओं को गूगल गुरु, क्लाउड गोडाउन, क्लाउड लॉकर का फ्यूचर मंत्र दिया।
महज 25 सालों में नैस्कॉम के शानदार विस्तार पर बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके विस्तार के पीछे एक बड़ा कारण यह भी है कि इसमें सरकार का कहीं से कोई रोल नहीं है। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि हम जितना दूर रहें, उतना अच्छा। यह सारा करिश्मा नौजावानों ने किया है। पीएम ने कहा, 'आईटी के कारण पूरी दुनिया को भारत की तरफ देखने की जरूरत पड़ रही है। पहले दुनिया की नजर में पिछड़े, गंदे, सांप-संपेरे वाले देश की छवि थी। लेकिन, हमारे नौजवानों ने कम्प्यूटर पर उंगलियां घुमाते-घुमाते दुनिया का दिमाग बदल दिया। आज की तारीख में बच्चों का एक ही गुरू है, गूगल गुरु। मोदी ने कहा, मोबाइल आज कहां पहुंच गया, कोई अंदाजा नहीं लगा सकता।
पीएम ने समारोह में शामिल लोगों से पूछा, 'क्या आपके दिल में यह सवाल नहीं उठता कि गूगल हमारे देश में हो?' हाइवे जितना आइवे (इन्फर्मेशन वे) भी जरूरी।डिजिटल इंडिया पर काम चल रहा है। डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा। पीएम ने विरोधियों और आलोचकों पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा कि लोग हर काम की आलोचना करते हैं, लेकिन इससे यह भी पता चलता है कि आप अच्छा करते हैं, इसलिए आपसे ज्यादा अपेक्षा भी होती है।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, और क्या बोले पीएम मोदी-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top