Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सबसे वजनी रॉकेट GSLV मार्क-3 की लॉन्चिंग की तस्वीरें, इसरो की 30 साल की मेहनत है ये

उन्होंने कहा कि यह ज्यादा साधारण और बेहतर पेलोड भाग वाला प्रक्षेपण यान है। यह भविष्य में इसरो का मजबूत प्रक्षेपण यान होने वाला है। राधाकृष्णन 2000 में मंजूर जीएसएलवी मार्क तीन कार्यक्रम से करीबी रूप से जुड़े रहे हैं। वह वीएसएससी के निदेशक रहे और फिर इसरो के अध्यक्ष बने। वह अब इसरो के सलाहकार हैं।
Next Story