Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लीबियाः विमान के अपहरणकर्ताओं ने किया सरेंडर, सभी यात्री रिहा

सभी 111 यात्रियों और 7 क्रू मेंबर्स को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

लीबियाः विमान के अपहरणकर्ताओं ने किया सरेंडर, सभी यात्री रिहा
ऩई दिल्ली. लीबियाई पैसेंजर प्लेन एयरबस ए320 हाइजैक का संकट खत्म हो चुका है। इसमें बंधक बनाए गए सभी 111 यात्रियों और 7 क्रू मेंबर्स को सुरक्षित निकाल लिया गया है। हाइजैकर्स ने इस अफ्रीकियाह एयरवेज के वेस्ट लीबिया के सेबा से त्रिपोली जा रहे इस विमान को हाइजैक कर लिया था। उन्होंने इसे अचानक माल्टा की ओर मोड़ दिया।
माल्टा एयरपोर्ट पर इसकी लैंडिंग के बाद सिक्यॉरिटी आॅपरेशन में सुरक्षा अधिकारी पूरी तरह सफल रहे। उन्होंने न सिर्फ सभी यात्रियों को सुरक्षित छुड़ाया, बल्कि हाइजैकर्स को सरेंडर करने के लिए भी मजबूर किया। हाइजैकर्स ने टु​कड़ियों में यात्रियों को छोड़ा। उन्होंने सबसे पहले 25 लोगों को छोड़ा था, जबकि सबसे आखिरी में क्रू मेंबर्स को छोड़ा। हाइजैकर्स ने माल्टा में शरण की मांग की है। हालांकि, माल्टा सरकार ने उनकी मांग पर क्या फैसला लिया है, इसपर से पर्दा उठना बाकी है।
गार्डियन की रिपोर्ट के अनुसार, हाइजैकर्स के पास ग्रेनेड थे और वह विमान को ब्लास्ट करना चाहते थे। लेकिन ऐसी किसी भी अनहोनी की आशंका को माल्टा के सुरक्षा​ ​अधिकारियों ने खत्म कर दिया। हाइजैकर्स को गद्दाफी समर्थक बताया जा रहा है। हाइजैकर्स ने संकेत दिए हैं कि वो यात्रियों को रिहा कर सकते हैं।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, माल्टा यूरोप का एक छोटा सा मुल्क है जो कि लीबिया की उत्तरी सीमा से तकरीबन 500 किलोमीटर दूर है। इस देश को यहां के ऐतिहासिक स्थलों के लिए भी जाना जाता है। 2011 में यहां से तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी को हटाया गया था। इसके बाद से ही उनके समर्थक और विरोधियों के ​बीच अमूमन हर रोज हिंसा होती रहती है।
इस वजह से देशभर में हालात बहुत खराब हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों पर विभिन्न गुटों का कब्जा है और इस घटना को भी किसी लोकल गुट की कारिस्तानी से जोड़कर देखा जा रहा है। हालांकि, सरकार ने आधिकारिक तौर पर अभी कुछ नहीं कहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top