Top

Monsoon Session: पीएम का राहुल को जवाब- मैं यहां खड़ा भी हूं और जो 4 साल में काम करें हैं उसपे अड़ा भी हूं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 20 2018 11:19PM IST
Monsoon Session: पीएम का राहुल को जवाब- मैं यहां खड़ा भी हूं और जो 4 साल में काम करें हैं उसपे अड़ा भी हूं

संसद मानसून सत्र के तीसरा दिन मोदी सरकार और विपक्ष के लिए अहम है। सुबह 11 बजे सदन की कार्यवाही शुरू हो चुकी है। पक्ष और विपक्ष के सभी सांसद मौजूद हैं।  सबसे पहले सदन में टीडीपी नेता जयदेव गल्ला से भाषण की शुरूआत हुई। उसके बाद बीजेपी सांसद राकेश सिंह और फिर राहुल गांधी ने अपना भाषण दिया। 

पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने अपने साथ ही पूरी दुनिया के आर्थिक विकास को गति दी है। पीएम मोदी ने आगे कहा कि जब हम डिजिटल लेनदेन की बात करने लगे तो सदन में बैठे लोग बताने लगे कि हमारे देश में लोग अनपढ़ हैं। ऐसे लोगों को हमारे देश की जनता ने तमाचा मारा है।

पीएम मोदी ने कहा कि अपना कुनबा कहीं बिखर ना जाए कांग्रेस पार्टी को इसकी चिंता है। उन्होंने आगे कहा कि मैं यहां खड़ा भी हूं और जो चार साल काम करें है उसपे अड़ा भी हूं।

पीएम मोदी ने कहा कि हमको तो अपनी बात कहने का मौका मिल रहा है पर देश को ये भी देखने का मिला है कि कैसी नकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर के रखा हुआ है। कैसे विकास के पार्टी विरोधी का भाव है। 

पीएम मोदी ने कहा कि ना मनझाई ना रहबर, ना हक में हवाएं, है कश्ती भी जरजर, ये कैसा सफर है। पीएम मोदी ने राहुल गांधी के गिले लगने पर कहा कि उन्हें कुर्सी पर पहुंचने की जल्‍दबाजी है।

पीएम मोदी ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से देश को जानने को मिला है कि देश में किस प्रकार विकास के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है और नाकारात्मक राजनीति ने कुछ लोगों को घेर करके रखा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अविश्वास प्रस्ताव के खारिज करने की अपील की है।

रामदास अठावले लोकसभा में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले, पर मोदी को पता है कांग्रेस को हराने की कला। पीएम 2019 का लोकसभा चुनाव जीतेंगे। मोदी हमारी टीम के कप्तान हैं। वह हमारी टीम के विराट कोहली हैं। वह हमें 2019 का मैच जिताएंगे।

लोकसभा में फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मैं किसानों, दलितों की बात नहीं करूंगा. मैं सिर्फ कश्‍मीर की बात करूंगा। उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी में पत्‍थरबाजी रुक जाएगी लेकिन क्‍या ऐसा हुआ।

फारूक अब्दुल्ला आगे कहा कि हमे पाकिस्तान से बातचीत करनी होगी। फारूक अब्दुल्ला कहा कि यह वतन मेरा है और मैं इस वतन की मिट्टी में ही मरूंगा। फारूक अब्दुल्ला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा कि नफरतों को छोड़ दीजिए, हम दुश्‍मन नहीं हैं।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख सदुद्दीन ओवैसी आज लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सात सवाल पूछे। इसके अलावा असदुद्दीन ओवैसी ने मुसलमानों के मुद्दे पर सरकार पर पक्षपात का आरोप भी लगाया।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि आप मुक्‍त भारत चाहते हैं या भारत को मुसलमानों से मुक्‍त करना चाहते हैं।

टीडीपी सांसद राममोहन नायडू ने लोकसभा में कहा कि भारतीय जनता पार्टी का मुख्यालय डेढ़ साल मे बना तो क्या आंध्र मे आईआईटी, आईआईएम चार साल मे भी नहीं बन सकते। उन्होंने आंध्र प्रदेश के विशेष राज्य का दर्जा मिलने को लेकर कहा कि राज्य को 10 साल तक विशेष राज्य का दर्जा मिले। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी के चुनावी घोषणापत्र मे भी दस साल का प्रावधान था।

शिरोमणि अकाली दल के सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने लोकसभा में आज 1984 सिख दंगों का मामला उठाया। उन्होंने कहा कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि हमें सरकार से दोषियों को सजा दिलाने की उम्मीद थी लेकिन कांग्रेस ने तो केस ही बंद कर दिए थे।

मोदी सरकार ने उन मामलों को फिर से शुरू किया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का समर्थन किया। 

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर टीएमसी सांसद दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि सरकार के विकास दावों पर उठाए गए किसी भी प्रश्न का केवल एक ही जवाब है- हिंदू मुसलमान, भारत पाकिस्तान और कब्रिस्तान शामशन।

दिनेश त्रिवेदी ने आगे कहा कि नोटबंदी का तय लक्ष्य पूरा नहीं हुआ और विभागों में फूट डली हुई है। दिनेश त्रिवेदी लिंचिंग पर कहा कि लिंचिंग हमारा भारत नहीं हो सकता, असली देशभक्त आज दुखी-नाराज है।  

लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे मोदी सराकर पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार बताए चार साल चार महीने में क्या किया है। सरकार ने सिर्फ अडानी और अंबानी की बात की है सरकार ने देश के किसानों की बात कभी नहीं की है।  

मल्लिकार्जुन खड़गे ने भाजपा पर समाज के तोड़ने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा भाजपा बांटो और राज करो की नीति पर चल रही है। मल्लिकार्जुन खड़गे ने आगे कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी ने कहा था कि किसानों को स्वामीनाथन आयोग के मुताबिक फसल के दाम दिए जाएंगें। लेकिन स्वामीनाथन आयोगी की सिफारिशों के मुताबिक एमएसपी नहीं बढ़ाई गई।

नोटबंदी के दौरन पीएम मोदी ने कहा था कि लोगों के खातों में 15 लाख रुपये आएंगे। कब आएंगे लोगों के खाते में 15 लाख, पेट्रोल-डीजल के दाम कब कम होंगे।

रामविलास ने लोकसभा में आज कहा कि मंत्री और सहयोगी दल क्या बोलते हैं इससे क्या लेना। उन्होंने आगे कहा कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि राम मंदिर बनना चाहिए, उन्होंने तो कोर्ट का फैसला मानने की ही बात कही है।

सदन में विपक्ष पर हमला बोले हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि क्या हम चाहते हैं कि पाकिस्तानी रूपी जेहानियत हिन्दुस्तान में जिंदा रहे? हिन्दू-पाकिस्तान, हिन्दू-तालिबान की बात करते हैं, देश को कहां ले जाना चाहते हैं?

सदन में राजनाथ सिंह बोले- मेरी हिम्मत को सराहो, मेरे हमराही बनो, मैंने एक शमा जलाई है हवाओं के खिलाफ, इस हकीकत को समझो।

लोकसभा में मॉब लॉन्चिंग घटनाओं पर राजनाथ सिंह ने कहा कि मॉब लॉन्चिंग घटनाएं बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं और मैंने राज्य सरकारों से इसके खिलाफ सख्त कानून बनाने के लिए कहा लेकिन मैं उन लोगों को बताना चाहता हूं जो इन मुद्दों को उठा रहे हैं। देश में मॉब लिंचिंग की सबसे बड़ी घटना 1984 में हुई है।

राहुल गांधी के पीएम मोदी से गले मिलने के अंदाज पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने नाखुशी जताई हुए कहा कि ये समझ लो कि सदन की गरिमा हमने ही रखी है, कोई बाहर का आकर नहीं रखेगा। एक संसद सदस्य के रूप में हमने अपनी गरिमा भी रखी है।

उन्होंने आगे कहा कि मैं चाहती हूं कि तुम सब लोग प्रेम से रहो। मेरे दुश्मन नहीं है, राहुल जी, बेटे जैसे ही लगते हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का पीएम मोदी से इस तरह से गले मिलना संसद की गरिमा के खिलाफ है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं देख रहा हूं कि जिन राजनीतिक दलों ने हमारी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की है।

उन्होंने आगे कहा कि उनका एक दूसरे के ऊपर विश्वास नहीं है। अगर नेतृत्व की चर्चा हो जाए तो समझ लीजिए की 'गई भैंस पानी में', ऐसी हालत यहां पैदा हो जाएगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने सदन के अंदर चिपको आंदोलन शुरू कर दिया है। कोई आकर ऐसे गले मिले, यह ठीक नहीं है।

राजनाथ सिंह के बयान के बाद लोकसभा में हंगामा हो गया वहीं टीडीपी के प्रदर्शन के चलते लोकसभा की कार्यवाही और 15 मिनट के लिए स्थगित की गई है।

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएंगे।

संसद मानसून सत्र के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी पर मुलायम सिंह यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि आज किसान, नौजवान और व्यापारी सब परेशान साथ ही सरकार ने रोजगार नहीं दिया है।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में बोल रहे हैं। सारा घोटाला किसान को हो रहा है। उन्होने आगे कहा कि आज किसान, नौजवान और व्यापारी सब परेशान साथ ही सरकार ने रोजगार नहीं दिया है।

मुलायम यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि पैसों की कमी के चलते लोगों की जान जा रही है। अमेरिका ने किसानों को प्राथमिकता दी जाती है।

संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि आप सीधे प्रधानमंत्री को निशाना बनाएं मुझे कोई फर्क नहीं लेकिन सबूत होने चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मुझे आपके सहयोगी दलों के सांसदों ने मुझे बधाई देते हैं।

राहुल ने भाषण को लेकर कहा कि हमला किसी व्यक्ति पर नहीं बल्कि अंबेडकर जी के संविधान पर हमला हो रहा है। साथ ही कहा कि हम किसी भी कीमत पर संविधान को बदलने की बात नहीं सहेंगे।

पहली बार ऐसी छवि बन रही है कि भारत महिलाओं के लिए सुरक्षित मुल्क नहीं है। राहुल ने कहा कि लोग मारे जा रहे हैं, काटे जा रहे हैं और मोदी के मंत्री आरोपियों पर हार डालते हैं। 

राहुल गांधी ने अपने भाषण को खत्म करने के बाद पीएम मोदी के पास जाकर गले मिले। जिसके बाद पीएम मोदी ने राहुल को वापस बुलाया और उनसे हाथ मिलाया और उनकी पीठ थपथपाई। राहुल ने एमएसपी को बताया जुमला स्ट्राइक, कहा कि किसानों को सिर्फ जुमलों से लुभाया जा रहा है।

अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली टीडीपी के नेता जयदेव गल्ला ने बहस के दौरान कहा कि बीजेपी सरकार ने आंध्र प्रदेश के साथ नाइंसाफी की है। सरकार अनदेखी कर रही है। गल्ला ने स्पेशल स्टेट के मुद्दे पर बीजेपी को घेरा और धोखा देने का आरोप लगाया है। इस बात पर बीजेपी एवं टीडीपी सांसदों के बीच तनातनी हुई। साथ ही जयदेव गल्ला ने कहा कि आंध्र प्रदेश आर्थिक बोझ से दबा है। लेकिन केंद्र सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है। केंद्र सरकार खुद के विकास में जुटी है।

इसके अलावा मोदी सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए गल्ला ने कहा कि मोदी जी 2014 में प्रचार के दौरान कहे थे कि कांग्रेस ने मां को मार कर बच्चे को बचाया है, अगर मैं सत्ता में आऊंगा तो मां को भी बचा लूंगा। आंध्र प्रदेश चार साल से इंतजार कर रहा है। हम हाथ जोड़कर विशेष राज्य का दर्जा मांग रहे हैं। हमारे आंध्र प्रदेश के विकास पर ध्यान दें और न्याय करें।

आगे गल्ला ने कहा कि तेलंगना नहीं आंध्र प्रदेश नया राज्य है। मोदी जी ने नई राजधानी को आर्थिक मद देने की बात कही थी जो कि अबतक पूरा नहीं हुआ। हमारा राज्य आर्थिक बोझ में दबा हुआ है। केंद्र सरकार हमारी ओर ध्यान नहीं दे रही है। मोदी सरकार अपना वादा पूरा करे। सदन के पहले वक्ता के तौर पर जयदेव गल्ला ने अपनी बात रखी और इसके लिए 10 मिनट से ज्यादा अतिरिक्त समय भी दिया गया।

इसके अलावा बीजद सांसदों ने वॉक आउट किया है।

इसे भी पढ़ें-अविश्वास प्रस्ताव पर बोली शिवसेना: सरकार को समर्थन देने पर अभी नहीं हुआ फैसला

मानसून सत्र के तीसरे दिन मोदी सरकार विश्वास मत रखेगी। हालांकि पूर्णं बहुमत वाली मोदी सरकार को अविश्वास प्रस्ताव से डर नहीं है। मौजूदा सरकार के पास पूर्व बहुमत से करीब 38 वोट ज्यादा हैं। ऐसे देखना है कि विपक्ष केंद्र सरकार के कितने वोट को काट पाती है। यदि कांग्रेस सेंध मारने में सफल होती है तो सरकार का गिर सकती है लेकिन ये फिलहाल नामुमकिन सा दिख रहा है।

सदन में दुसरे वक्ता के तौर पर बीजेपी सांसद राकेश सिंह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। साथ ही कहा कि विपक्ष के पास कोई ठोस कारण नहीं है अविश्वास कारण लाने का। साथ ही कांग्रेस को घोटाले व दागियों की सरकार बताई। मोदी सरकार की योजनाओं को जन कल्याणकारी बताई।

कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी ने सदन में बीजेपी पर जमकर हमला बोला। मोदी सरकार को जुमले वाली सरकार बताई। साथ ही कहा कि पीएम के दबाव में आकर रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने देश के साथ झूठ बोला है। फ्रांस व भारत के साथ कोई समझौता नहीं हुआ. तो वहीं अमित शाह के बेटे जय शाह के बेटे पर सवाल किया तो इस पर सदन में जमकर हंगामा हुआ। पीएम ने ना 15 लाख दिए और ना ही रोजगार दिया। नीरव मोदी, विजय माल्या जैसे भगोड़ों को लेकर कहा कि मोदी जी चौकीदार नहीं भागीदार हैं। मोदी जी मुझसे आंख नहीं मिला सकते हैं।

 

बता दें कि 18 जुलाई को लोकसभा में विपक्ष की ओर से 8 अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस दिए गए लेकिन लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने टीडीपी के नोटिस को स्वीकार किया था। इसके बाद मौजूदा सरकार को विश्वास मत रखने के लिए शुक्रवार का समय मिला। टीडीपी के अविश्वास प्रस्ताव के साथ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, राजद, एआईडीएमके का समर्थन मिला है। तो वहीं शिवसेना ने सस्पेंस बनाकर रखा है।

 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
parliament monsoon session 2018 third day modi govt congress shivsena floor test live update

-Tags:#Monsoon Session 2018#No Confident Motion#Floor Test#PM Modi#BJP#Shivsena
mansoon
mansoon

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo