Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पैन कार्ड पर अंकित पांचवें, छठवें से लेकर नौवें अंक महत्वपूर्ण

पैन कार्ड पर लिखे शुरूआती अक्षर अल्फाबेटिकल होते हैं।

पैन कार्ड पर अंकित पांचवें, छठवें से लेकर नौवें अंक महत्वपूर्ण
नई दिल्ली. पैन कार्ड का इस्तेमाल हर छोटी बड़ी चीज में किया जाता है। पैन कार्ड पर एक नंबर होता है 10 अंकों का यह किसलिए होता है पता है, किसी को पता भी होगा लेकिन ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं। पैन कार्ड का इस्तेमाल बार-बार किया जाता है। चाहे बैंक में खाता खुलवाना हो या फिर इंनकम टैक्स रिटर्न भरना हो।
कई बार ऐसा भी होता है कि पैन कार्ड साथ में नहीं होता है तो घर फोन करके पैन नंबर तो पूछा ही होगा। लेकिन कभी यह जानने की कोशिश की है कि पैन कार्ड पर लिखे नंबर होते किसलिए हैं? अपने पैन कार्ड को देखो उसमें कुछ नंबर्स होते हैं। उन्हीं 10 नंबर्स की बात हो रही है जो पैन कार्ड पर होते हैं। यह नंबर्स क्यों होते हैं और इनका मतलब क्या होता है सिर्फ नंबर्स को बताने भर से कैसे काम चल जाता है। आपने गौर किया होगा कि पैन कार्ड पर लिखे शुरूआती अक्षर अल्फाबेटिकल होते हैं। पैन कार्ड पर लिखे नंबर का हर अंक और अक्षर एक खास मकसद से लिखा गया होता है। आखिर क्या होता है पैन कार्ड पर लिखे हुए नंबर का मतलब-
पहले तीन डिजिट: पैन कार्ड के नंबर के शुरूआती तीन डिजिट अंग्रेजी के अक्षर होते हैं जो A से Z तक कुछ भी हो सकते हैं। यह अक्षर क्या होंगे और किस क्रम में होंगे, इसका निर्धारण आयकर विभाग की तरफ से किया जाता है।
चौथा अक्षर है सबसे खास: यूं तो पैन कार्ड के नंबर का चौथा अक्षर भी अंग्रेजी का अक्षर ही होता है, लेकिन इससे यह पता चलता है कि कार्ड किसी व्यक्ति का है या कंपनी का या फिर किसी और का।
जानिए किस अक्षर का होता है क्या मतलब- P- एकल व्यक्ति F- फर्म C- कंपनी A- AOP ( एसोसिएशन ऑफ पर्सन) T- ट्रस्ट - H-HUF (हिन्दू अनडिवाइडेड फैमिली) B- BOI (बॉडी ऑफ इंडिविजुअल) L- लोकल J- आर्टिफिशियल ज्युडिशियल पर्सन G- गवर्नमेंट।
आपके सरनेम से बनता है पांचवां अक्षर
पैन कार्ड का पांचवा अक्षर आपके सरनेम का अंग्रेजी का पहला अक्षर होता है। इस तरह आपके सरनेम का पहला अक्षर आपके पैन कार्ड नंबर का पांचवा डिजिट बनाता है।
छठवें डिजिट से लेकर नौवें डिजिट तक अंक होते
पांचवें डिजिट के बाद छठवें डिजिट से लेकर नौवें डिजिट तक अंक होते हैं। यह अंक 0001 से लेकर 9999 तक कुछ भी हो सकते हैं। यह वह नंबर होता है, जिसकी सीरीज आपका पैन कार्ड बनवाते समय आयकर विभाग में चल रही होती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top