logo
Breaking

पाकिस्तान को डराने भारत आ रहा है S-400, जानिए इसके बारे में खास बातें

पुतिन के भारत दौरे के दौरान भारत और रुस के बीच करीब 40 हजार करोड़ के रक्षा सौदे पर भी हस्ताक्षर हो सकते हैं। इसके तहत रुस भारत को एंटी मिसाइल सिस्टम S-400 की आपूर्ति करेगा। भारत और रुस के बीच होने वाली इस डिफेंस डील से पाकिस्तान और चीन की नींद उडी हुई है।

पाकिस्तान को डराने भारत आ रहा है S-400, जानिए इसके बारे में खास बातें

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 19वें भारत-रुस शिखर सम्मलेन में हिस्सा लेने भारत आ रहे हैं। पुतिन का ये भारत दौरा बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा हैं।

पुतिन के भारत दौरे के दौरान भारत और रुस के बीच करीब 40 हजार करोड़ के रक्षा सौदे पर भी हस्ताक्षर हो सकते हैं। इसके तहत रुस भारत को एंटी मिसाइल सिस्टम S-400 की आपूर्ति करेगा।

भारत और रुस के बीच होने वाली इस डिफेंस डील से पाकिस्तान और चीन की नींद उडी हुई है।

इसे भी पढ़ें- सात रोहिंग्या नागरिकों को म्यांमार वापस भेजने पुलिस टीम जाएगी मोरेह बॉर्डर

जानिए क्या है S-400 मिसाइल सिस्टम-

एस-400 ट्रिम्फ रूस द्वारा बनाया गया एयर डिफेंस सिस्टम या एंटी बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम है। जो 1990 में बनाये गए विमान भेदी सिस्टम एस-300 का आधुनिक रूप है।

इस सिस्टम को रूस के अल्माज़ केंद्रीय डिजाइन ब्यूरो द्वारा बनाया गया है। एस-400 ट्रिम्फ सिस्टम की विशेषता इसकी चार अलग-अलग रेंज की मिसाइल्स हैं, जो इसे दुनिया का सर्वश्रेष्ठ एयर डिफेंस सिस्टम बनाती हैं।

1. वैरी लॉन्ग रेंज (400 किमी)

2. लॉन्ग रेंज (250 किमी)

3. मीडियम रेंज (120 किमी)

4. शार्ट रेंज (40 किमी)

एस-400 ट्रिम्फ 2007 से ही रुसी सेना में शामिल है।

इसे भी पढ़ें- Sabarimala Verdict: कोर्ट के फैसले को तत्काल लागू करने के लिए RSS ने केरल सरकार को घेरा

क्या है S-400 ट्रिम्फ

एस-400 ट्रिम्फ सिस्टम के विकास की शुरुआत 1980 के दशक के अंतिम साल में हुई थी और रुसी वायु सेना ने इसकी घोषणा 1993 में की थी। एस-400 ट्रिम्फ का 1999 में पहला सफल परीक्षण किया गया था।

एस-400 इस समय दुनिया का सबसे उन्नत एंटी मिसाइल सिस्टम है जो अमेरिका के एफ 35 जैसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान के साथ विश्व के किसी भी प्रकार के उड़ने वाले ऑब्जेक्ट्स को मार गिराने की ताकत रखता है।

यह मिसाइल सिस्टम लोंग रेंज एयर डिफेंस सिस्टम है जो 400 किमी तक की दुरी से से आ रहे मिसाइलों तथा ड्रोन को मार गिरा सकता है।

Loading...
Share it
Top