Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नए नोट की नकल नहीं कर पाएगा पाकिस्तानः सुरक्षा एजेंसी

नए नोटों की नकल करना पाकिस्तान और अन्य आपराधिक नेटवर्क्स के लिए लगभग नामुमकिन है।

नए नोट की नकल नहीं कर पाएगा पाकिस्तानः सुरक्षा एजेंसी
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोटों को बैन कर नए 500 और 2000 रुपए के नोटों को लाने के फैसले की लोग तारिफ भी कर रहे हैं तो कुछ लोग इसे तुगलकी फरमान भी कह डाला है। कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं कि पाकिस्तान फिर से 500 और 2000 रुपए के जाली नोट तैयार कर लेगा। लेकिन इन सभी विवादों के बाद भी भारतीय खुफिया एजेंसियां 500 और 2000 रुपए के नए नोटों की सुरक्षा को लेकर काफी आश्वस्त नजर आ रही हैं।
एजेंसियों का दावा है कि इन नोटों में जो सुरक्षा मापदंड अपनाए गए हैं, आने वाले कुछ वक्त तक उनकी नकल करना पाकिस्तान और अन्य आपराधिक नेटवर्क्स के लिए लगभग नामुमकिन है।
एक आला सरकारी अधिकारी ने विस्तृत जानकारी न देते हुए बताया कि रिसर्च ऐंड अनैलेसिस विंग (रॉ), इंटेलिजंस ब्यूरो (आईबी) और डीआरआई ने पिछले छह महीनों से खुफिया रूप से छप रहे नोटों की जांच की है। अधिकारी ने यह बताने से इनकार किया कि नोट पर कितने सुरक्षा फीचर्स मौजूद हैं लेकिन यह जरूर कहा कि इसकी नकल बनाना मुश्किल है।
खुफिया एजेंसियों ने सरकार और रिजर्व बैंक को पहले ही इस बात की जानकारी दी थी कि पाकिस्तान ने पेशावर में एक खास छापाखाना तैयार कर रखा है जहां सिर्फ नकली भारतीय मुद्रा छापी जाती है। इसमें छापे जाने वाले ज्यादातर नोट 500 और 1000 रुपए के मूल्य के होते हैं। यह प्रेस पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ की निगरानी में काम करती है। आइएसआइ दाऊद इब्राहिम, लश्करे-तैयबा और अन्य अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक समूहों, जैसे अपने नेटवर्क के जरिए यह नकली मुद्रा भारत में पहुंचाती है।
रिजर्व बैंक और सरकार को सौंपी गई अपनी रिपोर्ट में सुरक्षा एजेंसियों ने दावा किया था कि कुछ साल पहले पाकिस्तानी मशीनरी ने नकली भारतीय नोट छापने में जीरो एरर हासिल कर लिया था।
एक अनुमान के अनुसार पाकिस्तान हर साल 70 करोड़ रुपए के नकली नोट भारत में भेजता है। इस रकम का इस्तेमाल आतंकवाद और देश में अव्यवस्था फैलाने में भी होता है।
गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजु ने कहा कि सरकार पाकिस्तान में नकली नोट छापने की प्रेस को बंद करने की दिशा में भी बढ़ेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top