Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ने ही कुलभूषण जाधव को करवाया था किडनैप, ये रहे सबूत

कुलभूषण जाधव को लेकर बलूच एक्टिविस्ट ने एक बड़ा खुलासा किया है। बलुच एक्टिविस्ट ने कहा कि कुलभूषण जाधव को ईरान से आईएसआई ने किडनैप कर पाकिस्तान लाया गया था। इसके

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ने ही कुलभूषण जाधव को करवाया था किडनैप, ये रहे सबूत

कुलभूषण जाधव को लेकर बलूच एक्टिविस्ट ने एक बड़ा खुलासा किया है। बलुच एक्टिविस्ट ने कहा कि कुलभूषण जाधव को ईरान से आईएसआई ने किडनैप कर पाकिस्तान लाया गया था। इसके बाद पाकिस्तान ने ऐलान किया कि जाधव बलूचिस्तान में जासूसी करते हुए पकड़ा गया।

पाकिस्तान जेल में बंद कुलभूषण जाधव को लेकर भारत लगातार कहता आया है कि उन्हें ईरान से पकड़कर जबरन जासूसी के आरोप में बंद किया गया है। अब इस बात पर एक बलूच नेता ने भी मुहर लगाई है।

इसे भी पढ़ेंः डोकलाम विवाद: सैटेलाइट इमेज में दिखे 7 हैलीपैड और गोला-बारूद का जखीरा

वाइस ऑफ मिसिंग बलूच नाम की संस्था के उपाध्यक्ष मामा कादिर ने एक भारतीय न्यूज चैनल को बताया कि उसके एक कार्यकर्ता ने बताया था कि जाधव को ईरान के चाबहार बंदरगाह से पकड़ा गया था। पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने वाले मुल्ला उमर बलूच ईरानी ने पकड़ा था। वह आईएसआई के लिए काम करता है।

कादिर का कहना है कि उसके एक कार्यकर्ता घटना का गवाह है। उसने देखा था कि जाधव के दोनों हाथ बंधे हुए थे। बलूच ईरानी उसे पहले कार में डालकर ईरान-बलूचिस्तान सीमा पर स्थित मशखल कस्बे में ले गया। वहां से उसे बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा लाया गया और फिर इस्लामाबाद। कादिर का कहना है कि उन्हें केवल इतना पता था कि जाधव ईरान में व्यापार के सिलसिले में आया करते थे।

उनका यह भी कहना है कि जाधव को पकड़ने के लिए बलूच ईरानी को पाकिस्तान ने करोड़ों रुपयों का भुगतान किया था। बाद में उन्हें पता चला कि पाक ने घोषणा की है कि जाधव को बलूचिस्तान से पकड़ा गया। कादिर का कहना है कि बलूच ईरानी को उसका कार्यकर्ता अच्छी तरह से पहचानता था। उसने ही उन्हें सारे वाकये की विस्तार से जानकारी दी।

Next Story
Top